Home » इंटरनेशनल » chinese condom small in size says zimbabwe health minister
 

चाइनीज कॉन्डोम के साइज पर जिम्बाब्वे में क्यों उठ रहे हैं सवाल

कैच ब्यूरो | Updated on: 4 March 2018, 16:10 IST

दुनियाभर में चीन के सामान का खूब इस्तेमाल किया जा रहा है. साथ ही चीनी सामान की गुणवत्ता को लेकर भी सवाल उठते रहते हैं. जिम्बाब्वे में भी चीनी सामान खूब इस्तेमाल किया जाता है. अब जिम्बाब्वे में चीन से आयात किए गये कॉन्डोम के साइज को लेकर सवाल उठाना शुरु कर दिया है. बता दें कि जिम्बाब्वे में चीन से कॉन्डोम आयात किए जाते हैं.

ये भी पढ़ें- चीन ने ट्रंप को दी धमकी, ट्रेड वार के बाद नतीजे भुगतने को हो जाएं तैयार

ऐसे में जिम्बाब्वे के स्वास्थ्य मंत्री ने इन कॉन्डोम को लेकर शिकायत की है. अपने एक बयान में स्वास्थ्य मंत्री ने कहा है कि चीन से जो कॉन्डोम आयात किये जाते हैं, वो जिम्बाब्वे के मर्दों के लिए साइज में छोटे पड़ते हैं.खबरों के अनुसार, हाल ही में जिम्बाब्वे की राजधानी हरारे में एचआईवी की रोकथाम के लिए आयोजित हुए एक कार्यक्रम के दौरान वहां के स्वास्थ्य मंत्री डेविड परीरेनयातवा ने कहा कि देश के युवाओं के बीच जो कॉन्डोम प्रसिद्ध है, वो चीन से आयात किया जाता है, लेकिन कुछ लोगों ने इसे लेकर शिकायत की है कि ये साइज में काफी छोटे हैं.

स्वास्थ्य मंत्री ने इस स्थिति से बचने के लिए स्थानीय कंपनियों को कहा है कि कि वो देश में ही वैलनेस प्रोडक्ट्स का निर्माण करें. बता दें कि जिम्बाब्वे में एचआईवी पीड़ितों की संख्या बहुत ज्यादा है. आंकड़ों के अनुसार, जिम्बाब्वे एचआईवी के मरीजों के मामले में अफ्रीकी महाद्वीप में 6वें नंबर पर है और यहां 13.5 प्रतिशत की दर से एचआईवी के मरीज बढ़ रहे हैं. साल 2016 के आंकड़ों के अनुसार, जिम्बाब्वे में 1.3 मिलियन एचआईवी पीड़ित मरीज हैं. इस मुद्दे को उठाते हुए स्वास्थ्य मंत्री डेविड परीरेनयातवा ने कहा कि आप जानते हैं कि जिम्बाब्वे में एचआईवी वायरस से पीड़ितों की संख्या कितनी ज्यादा है और इनमें महिलाएं और पुरुष दोनों शामिल हैं.

सर्वे करा रही है कंपनी 

इसके लिए कंपनी अफ्रीकी क्षेत्र में सर्वे कर रही है. जिसके बाद उपभोक्ताओं की जरुरत के हिसाब से वैलनेस प्रोडक्ट में बदलाव किए जाएंगे. जिम्बाब्वे ऐसा पहला देश नहीं है, जिसने चीन के वैलनेस प्रोडक्ट्स को लेकर शिकायत की हो, इससे पहले घाना भी इन्हें लेकर अपनी शिकायत कर चुका है. खबर के अनुसार, चीन से घाना निर्यात किए गए करीब 1 मिलियन कॉन्डोम को लेकर शिकायत की गई थी कि वो खराब निकले हैं.

बता दें कि साल 2012 में ‘पर्सनेलिटी और इंडीविजुएल डिफरेंसेस’ में एक लेख छपा था. इसके अनुसार, दक्षिण एशियाई देशों और यूरोपीय देशों के लोगों के लिंग का साइज अफ्रीकी देशों के लोगों की तुलना में छोटा होता है. यही वजह है कि जिम्बाब्वे में कॉन्डोम के साइज को लेकर शिकायतें आ रही हैं. बहरहाल यह शिकायत चीन पहुंच चुकी है और जिम्बाब्वे में वैलनेस प्रोडक्ट निर्यात करने वाली कंपनी ने शिकायत मिलने पर कंपनी ने इसे दूर करने की कोशिश भी शुरु कर दी है.

First published: 4 March 2018, 16:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी