Home » इंटरनेशनल » Colombia and FARC sign historic pact
 

52 साल बाद 'गोलियों' से बनी कलम से हारी 'बंदूक', कोलंबिया में ऐतिहासिक समझौता

कैच ब्यूरो | Updated on: 27 September 2016, 13:50 IST
(ट्विटर)

कोलंबिया सरकार और वामपंथी फार्क (एफएआरसी) विद्रोही बल ने करीब 50 साल से जारी संघर्ष को समाप्त करने के लिए ऐतिहासिक शांति समझौते पर मंगलवार को दस्तखत किए. इस शांति समझौते के बाद कोलंबिया में पिछले 52 सालों से चला आ रहा संघर्ष औपचारिक रूप से समाप्त हो जाएगा. इसी साल जून में दोनों पक्ष संघर्ष को खत्म करने पर सहमत हुए थे. 

राष्ट्रपति जुआन मैनुअल सांतोस और रिवोल्यूशनरी आर्म्ड फोर्सेस ऑफ कोलंबिया (फार्क) के नेता तिमोलियोन ‘तिमोशेन्को’ जिमेनेज ने कैरेबियाई शहर कार्टाजेना में एक समारोह में समझौते पर हस्ताक्षर किए. समझौते के तहत फार्क अपनी हथियारबंद लड़ाई बंद कर देगा और कानूनी प्रक्रिया में शामिल होगा.

समझौते पर हस्ताक्षर किए जाने से पहले लातिन अमेरिका के अंतिम बड़े सशस्त्र संघर्ष को समाप्त करने के लिए चार साल तक प्रक्रिया चली. अब कोलंबिया के लोग अगले महीने होने वाले जनमत संग्रह में तय करेंगे कि इस शांति समझौते को स्वीकार किया जाए या नहीं.

राष्ट्रपति सांतोस ने समझौते पर हस्ताक्षर से पहले ट्विटर पर कहा, "हम आज कोलंबिया में खुशी की नई सुबह का अनुभव कर रहे हैं." उन्होंने इसे 'हमारे इतिहास में एक नया चरण' बताया. इस मौके पर दोनों पक्षों ने वास्तविक गोलियों से बनी कलम से हस्ताक्षर किए.

इस अवसर पर संयुक्त राष्ट्र महासचिव बान की मून, अमेरिका के विदेश मंत्री जॉन केरी, वेटिकन के विदेश मंत्री पिएत्रो पैरोलिन और क्यूबा के राष्ट्रपति राउल कास्त्रो समेत लातिन अमेरिकी देशों के नेता मौजूद रहे. फार्क विद्रोहियों का निशाना बने लोगों के परिजनों ने भी इस समारोह में हिस्सा लिया.

यूरोपीय संघ की विदेश नीति की प्रमुख फेडेरिका मोघेरिनी ने एक बयान में कहा कि यूरोपीय संघ ने समझौते पर हस्ताक्षर के बाद फार्क को आतंकवादी समूहों की अपनी सूची से हटाने का फैसला किया है. 

गौरतलब है कि कोलम्बिया सरकार और विद्रोहियों के बीच ये संघर्ष 1960 के दशक में ग्रामीण उत्थान के साथ शुरू हुआ था. दशकों से चला आ रहा यह संघर्ष कई वामपंथी विद्रोही समूह, दक्षिण पंथी अर्द्धसैन्य बल और नशीले पदार्थों से जुड़े गिरोहों के बीच रहा है.

कोलंबिया के आधिकारिक आंकड़ो मुताबिक, कोलंबिया एवं फार्क के बीच संघर्ष में करीब 2,60,000 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि 45,000 लोग अब तक लापता है. वहीं 60 लाख से ज्यादा लोग बेघर हो चुके हैं. समझौते के तहत फार्क अब एक राजनीतिक दल के रूप में फिर से लॉन्च होगा. तिमोशेन्को के इसका नेता बनने की उम्मीद है.

First published: 27 September 2016, 13:50 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी