Home » इंटरनेशनल » Construction of world's tallest building 'The Tower' started in Dubai Creek Harbour, will dominate Burj Khalifa
 

बुर्ज खलीफा को बौना बनाने वाली दुनिया की सबसे ऊंची इमारत 'द टॉवर' का दुबई में निर्माण शुरू, जानें खूबियां

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 February 2017, 5:46 IST
(ट्विटर)

दुबई में बुर्ज खलीफा से भी ऊंची दुनिया की सबसे ऊंची इमारत का निर्माण शुरू हो गया है. एम्मार प्रॉपर्टीज द्वारा बनाई जाने वाली इस 'द टॉवर' नाम की इमारत 2020 में बनकर तैयार हो जाएगी. इसकी ऊंचाई बुर्ज खलीफा से भी 100 मीटर ज्यादा होगी. 

सोमवार 10 अक्तूबर को दुबई के शासक, प्रधानमंत्री और उपाध्यक्ष शेख मोहम्मद बिन राशिद अल मक्तूम, दुबई होल्डिंग के चेयरमैन मोहम्मद अल गेरगावी, एम्मार प्रॉपर्टीज के चेयरमैन मोहम्मद अलाबार समेत कई प्रमुख शख्सियतों की मौजूदगी में इस इमारत की आधारशिला रखी गई.

देखें, 5300 करोड़ पिक्सल वाली दुनिया की सबसे बड़ी तस्वीर

दावा किया जा रहा है कि 'द टॉवर' की ऊंचाई बुर्ज खलीफा से 100 मीटर ज्यादा होगी. इसके निर्माण में 100 करोड़ अमेरिकी डॉलर (करीब 6,700 करोड़ रुपये) की लागत आएगी.

बनने के बाद दुनिया में सबसे ऊंची इमारत की डिजाइन दुनिया के मशहूर आर्किटेक्ट सैंटियागो कालात्रावा ने तैयार की है. इसकी प्रमुख खासियत यह होगी कि इसकी डेक से दुबई का 360 डिग्री व्यू देखने का मौका मिलेगा.

जानिए किस यूनिवर्सिटी में होती है दुनिया की सबसे महंगी पढ़ाई

बताया जा रहा है कि 2020 में दुबई में आयोजित होने वाले ट्रेड फेयर एक्सपो से पहले इस टॉवर का निर्माण पूरा हो जाएगा. मीनार की तरह दिखाई देने वाले इस टॉवर का आकार अपेक्षाकृत पतला होगा और इसे मजबूती देने के लिए जमीन से स्टील के केबलों का सहारा दिया जाएगा.

दुबई इंटरनेशनल एयरपोर्ट से 10 मिनट की दूरी पर क्रीक हार्बर में बनने वाले इस ऊंचे टॉवर का मकसद दुनिया भर के पर्यटकों को दुबई की ओर आकर्षित करना है.

दुनिया की 9 बेमतलब की बेशकीमती चीजें

दुनिया के सबसे बड़े पूर्णतया सुनियोजित विकासशील इलाकों में से एक दुबई क्रीक हार्बर में नवीनतम डिजाइन, इंजीनियरिंग और निरंतरता की खूबियां दिखेंगी.

क्यों खुलते ही बंद करना पड़ा दुनिया का सबसे ऊंचा कांच का पुल?

इसके अंतर्गत अगली पीढ़ी का स्मार्ट हब विकसित होगा जिसमें आर्टिफिशियल इंटेलीजेेंस के नवीनतम विकास को शामिल करने वाली एडवांस्ड डिजिटल लाइफस्टाइल शामिल होगी.

दुबई प्लान 2021 के लक्ष्यों को पूरा करने वाला यह टॉवर दुबई को ग्लोबल बिजनेस और लेजर हब के रूप में स्थापित करेगा. इसके साथ ही पर्यटन, आतिथ्य, उड्डयन और रिटेल जैसे कोर सेक्टर्स के विकास को बढ़ाकर देश के आर्थिक विकास में गति लाएगा.

दुनिया की 10 सबसे अच्छी और बुरी नौकरियां

द टॉवर के आर्किटेक्ट सैंटियागो की मानें तो इसकी डिजाइन और स्थापत्य की खूबियां इंजीनियरिंग की बेहद अनोखी परिकल्पनाओं की मांग करती हैं, जिन्हें यहां पर इस्तेमाल किया जा रहा है. 

इसके निर्माण में दुनिया की श्रेष्ठतम तकनीक और प्रणाली का इस्तेमाल किया जा रहा है ताकि यह सुरक्षा के अंतरराष्ट्रीय मानदंडों पर खरा उतरे. इसके लिए विंड इंजीनियरिंग और सीस्मिक टेस्ट की बिल्कुल नई अवधारणाओं का इस्तेमाल किया गया है.

जानिए मक्का में खुलने वाले दुनिया के सबसे बड़े होटल के बारे में

इस टॉवर की सबसे बड़ी खासियत इसका पिनैकल रूम होगा जो शहर का एक अद्भुत दृश्य मुहैया कराएगा. जबकि इसमें बने तमाम वीआईपी ऑब्जर्वेशन गार्डन डेक्स हर प्रमुख शख्सियतों को अनोखा नजारा दिखाएंगे. 

इस इमारत में गतिशील प्रकाश की व्यवस्था होगी जिसके जरिये दिन हो या रात यह हर वक्त एक अलग खूबसूरती बिखेरेगा. 

जानिए क्या हैं दुनिया के 5 सबसे खतरनाक नशे

First published: 13 October 2016, 5:16 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी