Home » इंटरनेशनल » Corona virus threats the world Indian students being brought back from Wuhan China
 

कोरोना वायरस: चीन से Air India के विमान से लाए जा रहे 400 छात्रों के लिए यहां की गई है खास व्यवस्था

कैच ब्यूरो | Updated on: 31 January 2020, 16:37 IST

Corona virus threats the World: कोरोना वायरस (Corona Virus) का खतरा बढ़ता ही जा रही है. चीन (China) समेत दुनियाभर के देश कोरोना (Corona) का सटीक इलाज नहीं खोज पा रहे हैं. ऐसे में विश्व स्वास्थ्य संगठन (World Health Organisation) को कोरोना वायरस को लेकर पूरी दुनिया में हेल्थ इमरजेंसी (Health Emergency) लगा दी है. भारत (India) समेत दुनिया के कई देशों में कोरोना का खतरा बढ़ रहा है, ब्रिटेन (Britain) में भी कोरोना वायरस ने दस्तक दे दी है.

ब्रिटेन के स्वास्थ्य मंत्रालय (Health Ministry) ने दो लोगों में कोरोना वायरस की पुष्टि की है. चीन के वुहान शहर (Wuhan City) में फंसे भारतीय छात्रों (Indian Students) को वापस लाने के लिए भारत सरकार (Government of India) भी सजग हो गई है. भारत सरकार ने वुहान से सभी भारतीय छात्रों को वापस लाने के लिए एयर इंडिया (Air India) का एक विमान (Flight) भेजा है.


इस विमान में पांच डॉक्टरों (Doctors)की टीम भी भेजी गई है. ये डॉक्टर वुहान पहुंचने के बाद सबसे पहले सभी भारतीयों की जांच करेंगे, कि कहीं किसी में कोरोना वायरस के लक्षण तो नहीं हैं. उसके बाद शुक्रवार-शनिवार देर रात दो बजे के बाद एयर इंडिया का विमान दिल्ली स्थित इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट पर लैंड करेगा. उसके बाद एयरपोर्ट पर ही सभी छात्रों और चीन से वापस लौटे लोगों की स्क्रीनिंग की जाएगी.

उसके बाद सभी छात्रों को (जो वुहान में रहकर पढ़ाई कर रहे हैं) गुरुग्राम से करीब बीस किलोमीटर दूर मानेसर में बनाए गए आइसोलेशन वार्ड में भेजा जाएगा. जहां उन्हें 28 दिनों की निगरानी में रखा जाएगा. बता दें कि सेना ने मानेसर में चीन ने वापस लौट रहे भारतीयों के लिए आइसोलेशन वार्ड बनाया है. यहीं पर सभी संदिग्धों को रखने की व्यवस्था की गई है. इसके साथ ही अगर किसी छात्र में संक्रमण का संदेह होता है तो उसे दिल्ली स्थित बेस अस्पताल में शिफ्ट कर दिया जाएगा. जहां उन्हें छावनी स्थित आइसोलेशन वार्ड में रखा जाएगा.

गौरतलब है कि कोराना वायरस चीन के वुहान शहर से निकलकर दुनियाभर में फैल गया है. इसी के चलते दुनियाभर के देशों ने चीन जाने वाली अपनी सभी उड़ाने रद्द कर दी है और अपने नागरिकों से कहा है कि जबतक बहुुत जरूरी न हो चीन की यात्रा न करें. बता दें कि वुहान शहर में जहां कोरोना वायरस की शुरुआत हुई है वहां 600 से अधिक भारतीय छात्र पढ़ाई कर रहे हैं. इनमें ज्यादातर छात्र मेडिकल की पढ़ाई कर रहे हैं. बता दें कि बीते रविवार को वुहान से लौटे एक छात्र को संदिग्ध मानकर जयपुर के सवाई मानसिंह मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया था, लेकिन जांच रिपोर्ट में उसे निगेटिव बताया गया.

5 डॉक्टरों के साथ चीन के वुहान के लिए उड़ा एयर इंडिया का जंबो जेट, 400 लोग आएंगे वापस

हाथ पर प्लास्टर होने के बाद भी मेजर शर्मा ने दुश्मनों से बचाया था कश्मीर, मिला था देश का पहला परमवीर चक्र

निर्भया गैंगरेप: विनय को छोड़कर तीनों दोषियों को कल ही दें फांसी- तिहाड़ के वकील

First published: 31 January 2020, 16:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी