Home » इंटरनेशनल » Coronavirus: China has not set any target for GDP growth for the first time in 30 years
 

Coronavirus : 30 साल में पहली बार चीन ने नहीं रखा जीडीपी ग्रोथ के लिए कोई लक्ष्य

कैच ब्यूरो | Updated on: 22 May 2020, 12:22 IST

Coronavirus : कोरोना वायरस महामारी ने चीन जैसी बड़ी अर्थव्यवस्था को ध्वस्त कर दिया है. 30 सालों में ऐसा पहली बार हुआ है जब चीन ने देश की जीडीपी के लिए 2020 में कोई लक्ष्य तय नहीं किया है. शुक्रवार को चीन की संसदीय बैठक में कई बड़े फैसले लिए गए. चीन ने अपना रक्षा बजट 6.6 फीसदी बढ़ाने का फैसला किया है. नेशनल पीप्लस कांग्रेस की बैठक में अर्थव्यवस्था की वृद्धि का लक्ष्य तय किया जाता है, जिसके बाद चीनी प्रीमियर ली केचियांग ने शुक्रवार को कहा "मैं बताना चाहता हूं कि हमने इस साल आर्थिक वृद्धि के लिए कोई खास लक्ष्य नहीं रखा है." जानकारों का मानना है कि अमेरिका से ट्रेड वॉर और कोरोना वायरस के कारण चीन की अर्थव्यवस्था को गहरा धक्का लगा है. 

ली ने कहा "कोविड -19 महामारी और विश्व आर्थिक और व्यापार के माहौल में बड़ी अनिश्चितता के कारण विकास की भविष्यवाणी करना मुश्किल है. चीन की अर्थव्यवस्था में पहली तिमाही में 6.8 फीसदी की गिरावट आई, जबकि बेरोजगारी ऐतिहासिक ऊंचाई पर पहुंच गई. अर्थशास्त्रियों ने आधिकारिक जीडीपी के लिए अपने विकास के पूर्वानुमानों में कटौती की है. एक के अनुसार मार्च के अंत में बीजिंग स्थित चीन इंटरनेशनल कैपिटल कॉरपोरेशन (CICC) ने अपने वास्तविक जीडीपी विकास अनुमान को 2.6 फीसदी कर दिया है, जो पहले 6.1 फीसदी था. चीन ही नहीं भारत में जीडीपी कोरोना वायरस से बुरी तरह प्रभावित हुई है. आरबीआई ने आज कहा कि इस साल जीडीपी के निगेटिव रहने का अनुमान है.


साऊथ चीन मॉर्निंग पोस्ट की रिपोर्ट के अनुसार चीन की सरकार ने पिछले साल 11 मिलियन की तुलना में 9 मिलियन नए शहरी रोजगार बनाने का लक्ष्य रखा है. पिछले साल 5.5 प्रतिशत की तुलना में लगभग 6 प्रतिशत की शहरी बेरोजगारी दर है. रिपोर्ट के अनुसार बीजिंग ने पिछले साल 2.15 ट्रिलियन युआन की तुलना में 3.75 ट्रिलियन युआन (यूएस 527 बिलियन डॉलर) में एक स्थानीय विशेष बॉन्ड कोटा निर्धारित किया है.

RBI ने दी खुशखबरी: 6 महीने तक EMI नहीं चुकाने पर भी लोन डिफॉल्ट नहीं होगा

यह विशेष ट्रेजरी बांड में 1 ट्रिलियन युआन जारी करेगा, जो पिछले साल के 2.8 प्रतिशत की तुलना में 3.6 प्रतिशत के राजकोषीय घाटे के अनुपात को लक्षित करता है. चूंकि विशेष ट्रेजरी बांड केंद्र सरकार के बजट में शामिल नहीं हैं, इसलिए वे घाटे से सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) अनुपात को बढ़ाने में योगदान नहीं करते हैं.

पाकिस्तान सरकार की वेबसाइट पर POK को दिखाया गया भारत का हिस्सा

First published: 22 May 2020, 12:12 IST
 
अगली कहानी