Home » इंटरनेशनल » Coronavirus: China told why Trump is not calling Corona virus a 'Chinese virus'
 

coronavirus: चीन ने बताया अब ट्रंप कोरोना वायरस को 'चीनी वायरस' क्यों नहीं कह रहे

कैच ब्यूरो | Updated on: 25 March 2020, 15:49 IST

कोरोना वायरस (coronavirus) के बढ़ते प्रकोप के बीच चीन और अमेरिका के बीच लगातार बहस जारी है. राष्ट्रपति ट्रंप द्वारा कोरोना वायरस को 'चीनी वायरस' कहने पर चीन ने कड़ा ऐतराज जताया था. अब चीन का कहना है कि ट्रंप को इस महामारी में सबसे ज्यादा चीन की ही जरूरत पड़ेगी इसलिए ट्रंप ने इस शब्द का इस्तेमाल बंद कर दिया है. ग्लोबल टाइम्स ने लिखा है कि अमेरिकी राष्ट्रपति अब जान गए हैं कि अमेरिका में बिगड़ती महामारी की स्थिति को हल करने में चीन उसकी मदद नहीं करेगा.

रिपोर्ट के अनुसार विश्लेषक मानते हैं कि अब ट्रंप महामारी से लड़ने के लिए समर्थन हासिल करने की कोशिश कर रहे हैं. ग्लोबल टाइम्स ने लिखा है कि दुर्भावनापूर्ण तरीके से कोरोनोवायरस को "चीनी वायरस" के रूप में संदर्भित करने के बाद अमेरिका में चिकित्सा विशेषज्ञों, अधिकारियों और एशियाई अमेरिकियों द्वारा ट्रम्प की कड़ी आलोचना की गई थी.

अख़बार ने एक चीनी अधिकारी के हवाले से लिखा ''चीन को दोष देने से अमेरिका को समस्या को हल करने में मदद नहीं मिलेगी, खासकर जब अमेरिका अस्पताल के बेड, न्यूक्लिक टेस्ट किट, डॉक्टरों के लिए सुरक्षात्मक गियर और आम नागरिकों के लिए मास्क की समस्या का सामना कर रहा है''.

आगे लिखा गया है ''ट्रम्प तैयारी में कमी के कारण आपूर्ति की कमी से निपटने के लिए वह अन्य देशों से मदद मांग रहे हैं और उन्हें अब चीन की जरूरत है. क्योंकि चीन भी दुनिया में चिकित्सा उपकरणों के सबसे बड़े निर्माताओं में से एक है''. इससे पहले भी चीन और अमेरिका में लगातार बहस होती रही है. चीन की तरफ से सवाल उठाया गया था कि कोरोना वायरस चीन की साजिश है जबकि अमेरिका ने कहा कि चीन जानकारी नहीं छिपाता तो इस महामारी से बचा जा सकता था.  

coronavirus: पाकिस्तान में मरीजों की संख्या 1000 के पार, इमरान खान ने की क्वारेंटीन होने की अपील

First published: 25 March 2020, 15:49 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी