Home » इंटरनेशनल » Coronavirus: Chinese girl got married to Indian boy without parents
 

कोरोनावायरस : चीनी लड़की को माता-पिता के बिना रचानी पड़ी भारतीय लड़के से शादी

कैच ब्यूरो | Updated on: 6 February 2020, 11:11 IST

कोरोना वायरस (Coronavirus) का खतरा दुनियाभर में बढ़ता जा रहा है. कोरोनावायरस के खतरे से न सिर्फ लोगों की जान ली है बल्कि अपनों से भी दूर कर दिया है. इसी कड़ी में एक ताजा कहानी ईस्ट मिनिदनापुर से आयी है जहां चीनी लड़की को अपने परिवार की अनुपस्थिति में ही एक भारतीय से शादी करनी पड़ी. कोरोना वायरस के डर से दोनों देशों के बीच कई उड़ान सेवाओं को रद्द किया गया है. इसी कारण वह शादी में शामिल नहीं हो सके.

चीन की रहने वाली बी जियाकी ने बुधवार को ईस्ट मिदनापुर के पिंटू से शादी कर ली. वह सात साल पहले चीन में एक व्यापारिक मीट पर मिले थे. समाचार एजेंसी एएनआई के अनुसार जियाकी ने कहा कि "मेरे माता-पिता ने अच्छा किया और वे खुश हैं, लेकिन वे शादी में नहीं आ सके क्योंकि कोरोनोवायरस के प्रकोप के कारण भारत और चीन के बीच उड़ान सेवाओं को निलंबित कर दिया गया है. 

उसने कहा "हम चीन में वापस जाएंगे जब सबकुछ ठीक हो जाएगा''. विवाहित जोड़े का कहना है कि कोरोनोवायरस प्रकोप के कारण उसका परिवार नहीं आ सका लेकिन हम बाद में चीन में एक और समारोह आयोजित करेंगे. पिंटू ने कहा "हमारी शादी बंगाली और चीनी संस्कृति का मिलन है. कोरोना वायरस से अबतक चीन में 560 लोगों की मौत हो चुकी है. सरकार का कहना है कि देश में कोरोना के चलते हालात खराब हैं.

इससे पहले एक अन्य कहानी भी सामने आयी थी. जिसमे एक जोड़ा हनीमून ट्रिप पर शंघाई गया था. बी वह यह नव विवाहित जोड़ा अब अजमेर के जेएलएन अस्पताल में कोरोनवायरस के संदिग्ध रोगियों के आइसोलेशन वार्ड में समय बिता रहा हैं. किशनगढ़ (अजमेर) से नव-विवाहित जोड़ा 25 जनवरी को हनीमून ट्रिप पर शंघाई गया था.

कोरोना वायरस: नव विवाहित जोड़ा हनीमून पर गया था शंघाई, अब अजमेर के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती

First published: 6 February 2020, 11:08 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी