Home » इंटरनेशनल » Coronavirus may get worse in Winter Season
 

कोरोना वायरस सर्दी में ले सकता है विकराल रूप, अकेले ब्रिटेन में 85 हजार लोगों की मौत की आशंका

कैच ब्यूरो | Updated on: 30 August 2020, 18:52 IST

बीते साल चीन (China) के वुहान (Wuhan) शहर से दिसंबर में कोरोना वायरस (Coonavirus) पूरे विश्व में फैला और आठ महीने बीत जाने के बाद भी अभी तक पूरे विश्व में इस वायरस के कारण हाहाकार मचा हुआ है.  इस वायरस के कारण अभी तक 2 करोड़ 51 लाख से अधिक लोग संक्रमित हो चुके हैं जबकि 8 लाख 47 हजार से अधिक व्यक्तियों की जान जा चुकी है. दूसरी तरफ कोरोना की वैक्सीन कब आएगी, इसको लेकर अभी स्थिति साफ नहीं है.

पहले कहा जा रहा था कि गर्मियों के आने के दौरान कोरोना की चाल कम होगी, लेकिन ऐसा हुआ नहीं क्योंकि पहले इस बात की जानकारी नहीं थी कि यह वायरस किस तरह से फैलता है. वहीं अब सर्दियां आने वाले ही और उसमें ज्यादा दिन का समय नहीं बचा है. ऐसे में विश्व स्वास्थय संगठन ने सर्दियों की शुरूआत से पहले ही विश्व को इस बात को लेकर आगाह किया है कि सर्दियों में कोरोना और घातक हो सकता है. इतना ही नहीं ब्रिटेन सरकार की एक आंतरिक रिपोर्ट में सर्दियों में कोरोना के विकराल रूप की आशंका जताई गई है.


ब्रिटेन में कोरोना के कारण बुरा हाल है. कोरोना वायरस के कारम ब्रिटेन में अभी तक 41 हजार लोगों की मौत हो चुकी है. वहीं हाल ही में मीडिया में सरकार की एक रिपोर्ट लीक हो गई है.ब्रिटेन सरकार के साइंटिफिक एडवाइजरी ग्रुप फॉर इमरजेंसीज (SAGE) ने अपनी रिपोर्ट में विभिन्न स्थितियों का आकलन करके बताया कि सर्दी में कोरोना वायरस के कारण सबसे बुरी स्थिति का सामना करना पड़ सकता है. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, सेज का कहना है कि सरकार को फिर से पाबंदियां लगानी पड़ सकती हैं.

सेज ने अपनी रिपोर्ट में सरकार को किस भी स्थिति का सामना करने के लिए तैयार रहने के लिए कहा गया है. रिपोर्ट में साफ तौर पर कहा गया है कि यह अनुमान नहीं है  बल्कि विभिन्न परिस्थितियों का आकलन किया गया है. इस रिपोर्ट में साफ तौर पर कहा गया है कि सरकार को नवंबर से वापस पाबंधियां लगानी पड़ सकती हैं जो 2021 मार्च तक जा सकती है.

ब्रिटेन में ही नहीं विश्व स्वास्थ संगठन का भी यही मानना है कि सर्दियों में कोरोना वायरस के मामलों में पूरे विश्व में बढ़ोतरी दर्ज की जा सकती है. यूरोप में WHO के रीजनल डायरेक्टर हंस क्लग ने कहा,"सर्दियों के मौसम में युवा आबादी बुजुर्गों के ज्यादा नजदीक होगी. ऐसे में संक्रमण फैलने का खतरा काफी ज्यादा रहेगा. इसे लेकर हम कोई भविष्यवाणी नहीं करना चाहते. लेकिन निश्चित तौर पर यह एक समय ऐसा होगा, जब अस्पतालों में मरीजों की संख्या काफी बढ़ जाएगी और मृत्युदर में भी इजाफा होगा."

COVID-19 Updates: दुनियाभर में मरने वालों का आंकड़ा आठ लाख 46 हजार के पार, 2.51 करोड़ से ज्यादा संक्रमित

First published: 30 August 2020, 18:49 IST
 
अगली कहानी