Home » इंटरनेशनल » Coronavirus Outbreak America drive-in funeral theater in San Antonio
 

कोरोना वायरस: अमेरिका में लगा लाशों का अंबार, सोशल डिस्टेंसिंग का हो पालन इसीलिए LIVE दिखाए जा रहे अंतिम संस्कार

कैच ब्यूरो | Updated on: 16 April 2020, 12:18 IST

कोरोना वायरस (Coronavirus) के कारण पूरे विश्व में अभी तक एक लाख 34 हजार से अधिक व्यक्तियों की जान जा चुकी है जबकि इस वायरस से अभी तक 20 लाख से अधिक लोग संक्रमित हो चुके हैं. कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित अमेरिका (America) है, जहां इस वायरस के संक्रमितों की संख्या करीब 7 लाख हो गई है जबकि 22 हजार से अधिक लोग अपनी जान गंवा चुके हैं. बीते 24 घंटे में ही अमेरिका में दो हजार से अधिक लोगों की मौत हुई है. अमेरिका में इतनी मौतों के बाद लोगों का अंतिम संस्कार भी वहां की सरकार के लिए एक चैलेंज बना हुआ है. ऐसे में वहां पर एक नया तरीका इजाद किया गया है और लोग घर बैठे ही अपनो का अंतिम संस्कार देख रहे हैं.

कोरोना वायरस के बढ़ते असर के कारण अमेरिका में काफी सख्ती से सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराय जा रहा है, मृतकों के परिजनों को अंतिम संस्कार में शामिल नहीं होने दिया जा रहा है. ऐसे में अमेरिका के सैन एंटोनियो में कब्रिस्तान में ड्राइव-इन-थिएटर शुरू किया गया है. खबरों के अनुसार, ड्राइव-इन-थिएटर के तहत कब्रिस्तान में एक बड़ी स्क्रीन लगाई गई है जिस पर अंतिम संस्कार की पूरी प्रक्रिया को लाइव दिखाया जा रहा है, ऐसे में कब्रिस्तान आए मृतक के परिजन अपनी गाड़ियों में बैठे-बैठे ही अंतिम संस्कार देख पा रहे हैं.


कब्रिस्तान में लोग अपनी गाड़ियों से आते हैं और कब्रिस्तान में बनी एक खिड़की से वो अपने परिजन के ताबूत को ले जाते हुए देखते हैं, इस दौरान कोई अपने परिजन के लिए कोई संदेश देना चाहता है तो उसके लिए एक माइक्रोफोन की भी व्यवस्था की गई है, इस पूरी प्रकिया के दौरान व्यक्ति अपनी गाड़ी से नीचे नहीं उतरता है, ऐसे में सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा पालन किया जा रहा है.

वहीं दूसरी तरफ ऐसे लोग जो अंतिम संस्कार में शामिल नहीं हो सकते, वो अपने घरों में रहकर ही अंतिम संस्कार देख सकते हैं, और इसके लिए ऑनलाइन स्ट्रीमिंग की सुविधा दी गई है. इतना ही नहीं वो वर्चुअल तरीके से ही मृतकों के परिजनों को सांतवना भी दे सकते हैं. इस पूरी व्यवस्था की देखभाल की जिम्मेदारी डिक टिप्स की है. डिक टिप्स ने इस बारे में बताया,'अभी लोग मुसीबत में हैं. कई लोग अपने प्रियजनों के अंतिम संस्कार में शामिल नहीं हो पा रहे हैं, ऐसे में हमने यह तरीका अपनाया है.'

बता दें, कुछ शोध में इस बात का दावा किया गया है कि मृत व्यक्ति के शरीर से भी कोरोना वायरस का संक्रमण फैल सकता है. ऐसे में कई देशों में कोरोना वायरस से जान गंवाने वाले लोगों का अंतिम संस्कार वहां का स्थानिय प्रशासन की देख-रेख में किया जा रहा हैं ताकि वायरस से संक्रमण को बढ़ने से रोका जा सके.

कोरोना वायरस: वैज्ञानिकों ने दी चेतावनी, काफी नहीं है एक लॉक डाउन, 2022 तक जारी रखनी होंगी ये पाबंदियां!

कोरोना वायरस वैक्सीन ही एकमात्र विकल्प, जो सब कुछ सही कर सकती है : UN चीफ

First published: 16 April 2020, 12:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी