Home » इंटरनेशनल » Coronavirus : reaction from China on the investigation of the origin of coronavirus in WHO, these conditions were kept
 

WHO में कोरोना वायरस की उत्पत्ति की जांच पर चीन की तरफ से आयी ये प्रतिक्रिया, रखी ये शर्तें

कैच ब्यूरो | Updated on: 18 May 2020, 11:17 IST

Coronavirus : दुनिया के लगभग 62 देशों ने वर्ल्ड हेल्थ असेंबली (WHA) में कोरोना वायरस उत्पत्ति की जांच की मांग करने का प्रस्ताव रखा है. इन देशों में भारत भी शमिल है. सोमवार से इस मुद्दे पर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये चर्चा की जाएगी. इस वर्ष विश्व स्वास्थ्य सभा ने अपने एजेंडे में COVID-19 महामारी से निपटने पर मीटिंग बुलाई है. कोरोना वायरस की जांच की मांग के प्रस्ताव पर चीन की ओर से प्रतिक्रिया आयी है.

चीन के सरकारी अख़बार ग्लोबल टाइम्स ने अपने एडिटोरियल में लिखा कि उसे इस जांच से कोई आपत्ति नहीं है लेकिन यह निष्पक्ष होनी चाहिए. ग्लोबल टाइम्स के एडिटोरियल में लिखा गया है ''कुछ पश्चिमी मीडिया आउटलेट दावा कर रहे हैं चीन इस वर्ष के सम्मेलन में अभूतपूर्व दबाव का सामना कर रहा है और अलग-थलग पड़ जाएगा''.


कहा गया है ''एक वैज्ञानिक जांच की जानी चाहिए लेकिन सबसे पहले यह किसी भी देश या क्षेत्रीय संगठन के बजाय डब्ल्यूएचओ के नेतृत्व में होनी चाहिए. दूसरा, जांच वैज्ञानिक और निष्पक्ष होनी चाहिए. इसमें न केवल चीन-संबंधी कारक बल्कि अमेरिका और अन्य देशों को भी शामिल करने की आवश्यकता है''.

अख़बार आगे लिखता है ''क्या चीन वायरस की उत्पत्ति को लेकर वैज्ञानिक अनुसंधान का विरोध करेगा? नहीं, क्योंकि यह वैज्ञानिक तरीके से COVID-19 से लड़ने के लिए एक आवश्यक कदम है और वैक्सीन और दवाओं के विकास के लिए अनुकूल है''.

आगे लिखा गया है ''अमेरिका के इस आरोप कि वायरस वुहान की लैब में बना था, इसका दुनियाभर में वैज्ञानिकों ने विरोध किया है. लेकिन अमेरिका अभी भी तर्कहीन रूप से जांच की मांग कर रहा है. यह स्पष्ट रूप से एक अनुचित और अवैज्ञानिक अपील है, जिसे चीन कभी स्वीकार नहीं करेगा''.

ग्लोबल टाइम्स ने लिखा ''यूरोप और ऑस्ट्रेलिया में कुछ लोगों ने एक स्वतंत्र जांच के अमेरिकी प्रस्ताव समर्थन किया, जिसके खिलाफ चीन सतर्क है. कैनबरा और अन्य स्थानों के कुछ लोग वाशिंगटन का राजनीतिक रूप से अनुसरण करते हैं और चीन के प्रति अपनी राजनीतिक मंशा को छिपाते हैं?''

चीन ने कहा है कि असेंबली में एक राजनीतिक अपील का समर्थन नहीं किया जाएगा. पांच आंखें पूरी दुनिया का प्रतिनिधित्व नहीं करती हैं और अमेरिका अन्य देशों को नियंत्रित नहीं कर सकता है. अमेरिका ने अपनी COVID-19 लड़ाई को गलत दिशा दे दी है, वह चीन पर जिम्मेदारी डाल रहा है''.

 कहां पैदा हुआ कोरोना वायरस ? जवाब पाने के लिए WHO में 62 देशों के साथ भारत भी शामिल

First published: 18 May 2020, 11:12 IST
 
अगली कहानी