Home » इंटरनेशनल » coronavirus : The whole world is affected by Corona but no virus has reached palau island
 

coronavirus: पूरी दुनिया कोरोना की चपेट में लेकिन इस खूबसूरत आइलैंड पर नहीं पहुंचा कोई वायरस

कैच ब्यूरो | Updated on: 31 March 2020, 13:49 IST

कोरोना वायरस (coronavirus) 200 से अधिक देशों को अपनी चपेट में ले चुका है. दुनियाभर में अबतक 5,00,000 से अधिक मामले सामने आये हैं. हालांकि अभी भी दुनिया में ऐसे कई देश हैं जहां अबतक कोरोना वायरस की कोई आहट नहीं हुई है. इन देशों में कोरोना वायरस ने किसी भी को संक्रमित नहीं किया है. उत्तरी प्रशांत क्षेत्र का स्थित पलाऊ आइलैंड भी ऐसी ही एक जगह है, जिसकी आबादी 18,000 है, लेकिन अभी भी एक भी COVID-19 पॉजिटिव मामले की सूचना नहीं दी है.

उत्तर कोरिया ने पड़ोसी चीन और दक्षिण कोरिया में निरंतर महामारी के बावजूद COVID-19 से दूर रहने में सफलता हासिल की है. हालांकि इंटरनेशनल मीडिया बता रहा है कि उत्तर दुनिया को सच्चाई नहीं बता रहा है. पलाऊ को मूल रूप से लगभग 3,000 साल पहले इंसुलर दक्षिण पूर्व एशिया के प्रवासियों द्वारा बसाया गया था. द्वीप को पहली बार 16वीं शताब्दी में स्पेनिश द्वारा खोजा गया और 1574 में स्पेनिश ईस्ट इंडीज का हिस्सा बना दिया गया. 


द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान मारिआना और पलाऊ द्वीप अभियान के हिस्से के रूप में अमेरिकी और जापानी सैनिकों के बीच पेलेलियु की प्रमुख लड़ाई सहित झड़पें हुईं. अन्य प्रशांत द्वीपों के साथ पलाऊ को 1947 में संयुक्त राज्य-शासित ट्रस्ट टेरिटरी ऑफ़ पैसिफिक आइलैंड्स का हिस्सा बनाया गया. यह देश चारों और से समंदर से घिरा हुआ है. जिसने वायरस के खिलाफ एक दीवार के रूप में काम किया है.

यही नहीं सख्त यात्रा प्रतिबंधों के कारण भी क्षेत्र के अन्य देश टोंगा, सोलोमन द्वीप, मार्शल द्वीप और माइक्रोनेशिया संक्रमण से दूर हैं. इस समूह में समोआ, तुर्कमेनिस्तान, उत्तर कोरिया भी शामिल हैं. लेकिन नई बीमारी का रुकना निश्चित नहीं है. उत्तरी मारियाना द्वीप में सप्ताहांत में पहले पॉजिटिव मामले की पुष्टि की गई, जिसके बाद सोमवार को एक संदिग्ध मौत हुई.

लोगों का कहना है कि वह उम्मीद कर रहे हैं कि पलाऊ वुहान, न्यूयॉर्क या मैड्रिड से बच सकता है. हालांकि पलाऊ पर कई तरह के खतरे मंडरा रहे हैं, जिसमें एक संभावित मामला भी शामिल है. जहां एक व्यक्ति को इस एक हफ्ते के क्वारेंटाइन में रखा गया. देश के सबसे बड़े शहर कोरर के सुपरमार्केट में लोगों में घबराहट की स्थिति देखी गई है क्योंकि यहां सैनिटाइजर और मास्क की कमी है. द्वीप पर सामान भेजा जाता है इसलिए आपूर्ति में जल्दी कमी आने संभावना है. इसी तरह यहां के अन्य टापू पर्यटन पर निर्भर करते हैं.

अब चीन में आग का कहर, 19 लोगों की जलकर मौत, रेस्क्यू जारी

First published: 31 March 2020, 13:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी