Home » इंटरनेशनल » Coronavirus Vaccine: China said after Trump's claim - we are going to have a vaccine for Emergency
 

Coronavirus Vaccine: ट्रंप के दावे के बाद चीन बोला- एमरजेंसी के लिए हमारे पास आने वाला है टीका

कैच ब्यूरो | Updated on: 25 April 2020, 10:03 IST

Coronavirus : कोरोना वायरस से लड़ने के लिए दुनियाभर में लगातार टीके (Vaccine) विकसित किये जा रहे हैं लेकिन अमेरिका और चीन लगातार सफलता का दावा कर रहे हैं. अब चीनी सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (सीडीसी) के निदेशक गाओ फू ने गुरुवार को कहा कि सितंबर तक चीन में COVID-19 वैक्सीन विकसित की जा सकती है और अगले साल की शुरुआत में चिकित्साकर्मियों और अन्य लोगों पर आपातकालीन स्थति में इसका इस्तेमाल किया जा सकेगा. इससे एक दिन पहले ट्रंप ने दावा किया था कि वह वैक्सीन बनाने के बेहद करीब हैं.

चीन का कहना है कि यदि महामारी बड़े पैमाने प्रकोप दिखाती है तो, जो वैक्सीन सेकंड फेज या क्लीनिकल ट्रायल के तहत है, उसे विशेष समूहों पर इस्तेमाल किया जा सकता है. गाओ के अनुसार चीन के पास सितंबर में आपातकालीन उपयोग के लिए एक टीका आ सकता है और इसे अगले साल की शुरुआत में अधिक व्यापक रूप से इस्तेमाल किया जा सकता है.


ग्लोबल टाइम्स के अनुसार गाओ ने कहा चीन में अबतक क्लिनिकल ट्रायल के तहत दो संभावित टीके हैं. इसमें एक एडेनोवायरस वेक्टर वैक्सीन है, दूसरा एक अन्य वैक्सीन है. ये वैक्सीन अभी अपने क्लिनिकल ट्रायल के के दूसरे या तीसरे चरण में है. 

उन्होंने कहा "टीकों के विकास में समय लगता है. यह स्थिति पर निर्भर करता है क्योंकि इसका उपयोग स्वस्थ लोगों पर किया जाएगा. लोगों ने पिछले अनुभवों से सीखा है. हम जानते हैं कि टीकों के विकास के लिए कौन सी रणनीतियां अपनानी पड़ती हैं."

Coronavirus: अमेरिका ने रोका WHO का फंड तो चीन ने दान किये अतिरिक्त 30 मिलियन डॉलर

सैन्य संक्रामक रोग विशेषज्ञ चेन वेई के नेतृत्व में एक टीम द्वारा विकसित एडेनोवायरस वेक्टर वैक्सीन ने 13 अप्रैल को द्वितीय चरण के क्लीनिकल ट्रायल में प्रवेश किया. कुल 273 वोलेंटियर को वैक्सीन दिया गया. चीन का कहना है कि वह सेकंड फेज के क्लीनिकल ट्रायल में प्रवेश करने वाला पहला देश है.

ट्रंप ने क्या कहा था

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने व्हाइट हाउस में कोरोना वायरस ब्रीफिंग के दौरान कहा कि "हम एक वैक्सीन के बहुत करीब हैं." ट्रंप ने कहा ''इस पर काम करने के लिए हमारे पास कई ब्रिलिएंट लोग हैं''. उन्होंने कहा "दुर्भाग्य से हम टेस्ट के बहुत ज्यादा करीब नहीं हैं क्योंकि जब परीक्षण शुरू होता है तो इसमें कुछ समय लगता है, लेकिन हम इसे पूरा कर लेंगे."

Coronavirus: राष्ट्रपति ट्रंप का दावा- अमेरिका कोरोना वायरस वैक्सीन बनाने के करीब

एक रिपोर्ट के अनुसार अमेरिकी सरकार के शीर्ष संक्रामक रोग विशेषज्ञ डॉ. एंथोनी फौसी ने पहले कहा था कि वैक्सीन के इस्तेमाल करने में कम से कम 12 से 18 महीने लगेंगे. अधिकांश स्वास्थ्य विशेषज्ञ यह भी मानते हैं कि एक वैक्सीन तैयार होने में कम से कम 12 से 18 महीने लगते हैं.

कोरोना वायरस: तब्लीगी जमात मामले में ED का बड़ा खुलासा, भारत से विदेश भेजा गया पैसा

First published: 25 April 2020, 9:50 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी