Home » इंटरनेशनल » Coronavirus Vaccine : Indonesia plans to give Covid vaccines to younger people first
 

एशिया का यह देश पहले बुजुर्गों को नहीं बल्कि युवाओं को लगाएगा कोविड टीका, जानिए क्या है रणनीति

कैच ब्यूरो | Updated on: 16 December 2020, 11:54 IST

Coronavirus : इंडोनेशिया (Indonesia) बुजुर्गों से पहले अपनी युवा कामकाजी उम्र की आबादी को कोरोना वायरस का टीका (Coronavirus vaccine) लगाने की योजना बना रहा है. इंडोनेशिया की यह योजना दुनिया के अधिकांश देशों विपरीत है, जो अपने कमजोर उम्रदराज लोगों को पहले टीका लगाने की योजना बना रहे हैं. कोविड -19 टीके की डिलीवरी प्राप्त करने वाला दक्षिणपूर्व एशिया का पहला देश इंडोनेशिया 18 से 59 वर्ष की आयु के लोगों पर ध्यान केंद्रित करेगा, जो स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं, पुलिस और सेना जैसे महामारी की अग्रिम पंक्ति में काम करने वालों के साथ शुरू होगा. दूसरी ओर ब्रिटेन ने पिछले सप्ताह सबसे पहले 91 साल की महिला को कोरोना वायरस टीका देकर टीकाकरण की शुरुआत की थी.

अमेरिका ने भी इस सप्ताह बुजुर्गों के साथ अपने टीकाकरण कार्यक्रम की शुरुआत की, इसके बाद रोग नियंत्रण और रोकथाम सलाह केंद्र ने कहा कि स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं और नर्सिंग-होम के निवासियों को पहले से मौजूद चिकित्सा शर्तों के साथ शॉट्स प्राप्त करना चाहिए. कोरोना वायरस महामारी से मौत का सिलसिला जारी है. सरकारें इस सवाल से जूझ रही हैं कि सबसे पहले कौन से टीके लगवाने चाहिए. हालांकि इंडोनेशिया की रणनीति फिलहाल अलग है.


एक रिपोर्ट के अनुसार जकार्ता में एज़कमैन इंस्टीट्यूट फॉर मॉलिक्यूलर बायोलॉजी के निदेशक अमीन सोएबांड्रो ने कहा "हमारा उद्देश्य हर्डइम्युनिटी है." जनसंख्या के सबसे सक्रिय समूह के साथ उन 18 से 59 वर्ष को लोगों को टीका लगाया लगाया जायेगा, जो देश के लिए सुरक्षा किले का निर्माण करते हैं''.
इंडोनेशिया उन लोगों को लक्षित कर रहा है जो अपनी नौकरियों के कारण सबसे अधिक दूर हैं, साथ ही कोरोना वायरस मामलों की सबसे अधिक संख्या वाले क्षेत्र हैं क्योंकि यह संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए एक उपकरण के रूप में टीका का उपयोग करने पर केंद्रित है.

जावा और बाली के द्वीपों पर स्वास्थ्य कार्यकर्ता, जिनमें 60 फीसदी से अधिक पुष्ट मामले हैं, उन्हें चीन की सिनोवैक बायोटेक लिमिटेड वैक्सीन की 1.2 मिलियन खुराकें प्राप्त होंगी जो 6 दिसंबर को आईं. सरकार ने हर्ड इम्युनिटी की अपनी गणना तक पहुंचने के लिए 246 मिलियन खुराक का लक्ष्य निर्धारित किया है.

सरकारी लक्ष्य को सिनोवैक और नोवावेक्स इंक से ऑर्डर किए गए 155.5 मिलियन डोज के साथ मिलेंगे, जिसमें फाइजर इंक, एस्ट्राजेनेका पीएलसी और कोवाक्स सुविधा से 116 मिलियन संभावित ऑर्डर होंगे. अन्य देशों की तरह, इंडोनेशिया में कोविड -19 से होने वाली मौतों में बुजुर्गों की संख्या सबसे अधिक है. जिनकी आयु 60 वर्ष से अधिक है और देश के 19,111 मृत्यु दर के 39 फीसदी से अधिक है, जबकि 36 फीसदी 46 से 59 वर्ष के थे.

26,382 नए कोरोना मामलों के साथ भारत में कुल कोरोना मामले बढ़कर 99,32,548 हो गए हैं. 387 नई मौतों के साथ कुल मृतकों की संख्या 1,44,096 है. कुल सक्रिय मामले 3,32,002 हैं. पिछले 24 घंटों में 33,813 लोगों के डिस्चार्ज होने के साथ डिस्चार्ज होने वालों की संख्या 94,56,449 हुई.

लॉकडाउन के दौरान ऑटो इंडस्ट्री को रोजाना हुआ 2,300 करोड़ का नुकसान- संसदीय समिति

First published: 16 December 2020, 11:54 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी