Home » इंटरनेशनल » Coronavirus: Why are New York not able to trump even more than 2100 deaths
 

Coronavirus: 2100 से ज्यादा मौतों के बाद भी ट्रंप क्यों नहीं कर पा रहे हैं न्यूयॉर्क को लॉकडाउन

सुनील रावत | Updated on: 29 March 2020, 10:58 IST

अमेरिका में कोरोनावायरस के सबसे ज्यादा मामले सामने आये हैं, जिसमें मरने वालों की संख्या 2100 के पार चली गई है. यह संख्या दो दिन पहले के स्तर से दोगुना से अधिक है. अमेरिका में कोरोना वायरस के अबतक 122,000 से अधिक मामले सामने आये हैं जो दुनिया के किसी भी देश में सबसे अधिक है. COVID-19 का पहला मामला अमेरिका में जनवरी के अंत में आया था. कई लोग सवाल उठा रहे हैं कि सबसे शक्तिशाली माना जाने वाला अमेरिका आखिर इस वायरस पर नियंत्रण के मामले में इतना कमजोर क्यों हो गया है.  अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने शनिवार को कहा कि वह कोरोनोवायरस (coronavirus) के प्रसार को रोकने के लिए न्यूयॉर्क के लिए एक ट्रैवेल वार्निंग जारी करेंगे. पहले सुझाव दिया गया था कि कुछ राज्यों को पूरी तरह बंद किया जाये. 

सवाल उठ रहे हैं कि चीन और अन्य देशों की तरह अमेरिका सबसे ज्यादा नुकसान झेलने वाले न्यूयॉर्क को लॉकडाउन क्यों नहीं कर पा रहा है. ट्रंप ने शनिवार दोपहर कहा कि वह न्यूयॉर्क और न्यू जर्सी के कुछ हिस्सों में यात्रा पर प्रतिबंध लगा सकते हैं. लेकिन लॉकडाउन को लेकर आलोचकों ने सही नहीं ठहराया. यह कहा गया कि इससे बड़ा नुकसान होगा क्योंकि यह राज्य अमेरिका के आर्थिक इंजन के रूप में कार्य करता है, 10 प्रतिशत आबादी और सकल घरेलू उत्पाद (GDP) का 12 प्रतिशत है. जिसके बाद ट्रंप को यह आइडिया छोड़ना पड़ा.


न्यूयॉर्क भर में कुल 52,318 लोगों को अब तक कोरोनोवायरस मामलों का पता चला है, जो किसी भी अन्य अमेरिकी राज्य की तुलना में कहीं अधिक है. न्यू जर्सी दूसरा सबसे अधिक मामलों वाला राज्य है जहां  8,825 केस सामने आये हैं. 

ट्रंप ने छोड़ा लॉकडाउन का आइडिया

न्यूयॉर्क के गवर्नर एंड्रयू कुओमो ने सीएनएन से कहा "यदि आपने देश भर के क्षेत्रों में दीवार बनाना शुरू कर दिया है तो यह पूरी तरह से उत्पादन के खिलाफ और अमेरिका विरोधी होगा." इसके बाद ट्रंप ने यह आइडिया छोड़ दिया और कहा कि वह यूएस सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (सीडीसी) से एक मजबूत ट्रैवेल एडवाइजरी जारी करने के लिए कहेंगे, जो तीन राज्यों के गवर्नरों द्वारा प्रशासित की जाएगी.

सीडीसी ने बाद में इन राज्यों के लोगों को 14 दिन तक अनावश्यक घरेलू यात्रा रोकने को कहा. यह चेतावनी पब्लिक हेल्थ, वित्तीय सेवाओं सहित महत्वपूर्ण बुनियादी ढांचा उद्योगों के कर्मचारियों पर नहीं लागू करने को कहा गया. कई राज्यों में टेस्ट किट की कमी देखी गई जबकि वाइट हाउस बार बार कहता रहा कि इसकी सप्लाई होगी. चीन में सरकार ने कोरोनोवायरस के उपकेंद्र वुहान को पूरी तरह लॉक डाउन कर दिया.

अमेरिका में भी वेंटिलेटर की कमी

गवर्नर गेविन न्यूजोम ने कहा कि कैलिफोर्निया के अस्पतालों में कोरोनोवायरस रोगियों की संख्या में एक तिहाई से अधिक की वृद्धि हुई. लुइसियाना में अधिकारियों ने शनिवार को 17 अतिरिक्त मौतों और 569 नए मामलों की सूचना दी. यह बीमारी बुजुर्गों में सबसे घातक साबित हुई है, लेकिन इलिनोइस के गवर्नर जे बी प्रित्जकर ने शनिवार को कहा कि उनके स्टेट में एक बच्चे की मौत हुई है.

अमेरिकी हेल्थकेयर कार्यकर्ता लगातार अधिक उपकरणों की मांग कर रहे हैं, क्योंकि रोगियों की संख्या लगातार बढ़ रही है. डॉक्टरों को वेंटिलेटर की कमीखाल रही है. अस्पतालों ने दवाओं, ऑक्सीजन सिलेंडर और प्रशिक्षित कर्मचारियों की कमी के बारे में भी चेतावनी दी है. शनिवार को नर्सों ने न्यूयॉर्क में जैकोबी मेडिकल सेंटर के बाहर विरोध प्रदर्शन किया.

जिस शहर में पैदा हुआ खतरनाक कोरोना वायरस, वहां हटाया जा रहा है लॉकडाउन

दुनियाभर में मौत का आंकड़ा 30,883 के पार

First published: 29 March 2020, 10:12 IST
 
अगली कहानी