Home » इंटरनेशनल » After EU referendum David Cameron Prime Minister of UK decided to resign
 

ब्रिटेन के पीएम डेविड कैमरन ने किया इस्तीफे का एलान

कैच ब्यूरो | Updated on: 24 June 2016, 14:09 IST
(एएनआई)

यूरोपीय यूनियन से ब्रिटेन के अलग होने के फैसले का अब साइड इफेक्ट भी दिखने लगा है. जनमत संग्रह के नतीजे सामने आने के ठीक बाद ब्रिटेन के प्रधानमंत्री डेविड कैमरन ने इस्तीफे का एलान कर दिया है.

ब्रिटेन के पीएम कैमरन ने कहा है कि वह अगले तीन महीने के दौरान अपना पद छोड़ देंगे. कैमरन ने मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि यूरोपीय यूनियन से अब बातचीत की शुरुआत के लिए ब्रिटेन को नए प्रधानमंत्री की जरूरत है.

जनमत संग्रह में 52 फीसदी लोगों ने यूरोपीय संघ से ब्रिटेन के बाहर होने के पक्ष में अपना वोट दिया.

'ब्रेक्जिट नतीजे बड़ी सीख' 

प्रधानमंत्री डेविड कैमरन ब्रिटेन के यूरोपीय संघ में बने रहने के पक्ष में थे. जनमत संग्रह के नतीजों के मुताबिक 52 प्रतिशत मतदाताओं ने यूरोपीय संघ से बाहर होने के पक्ष में मुहर लगाई है.

ट्विटर पर एडवर्ड स्नोडेन ने लिखा, "नतीजे मायने नहीं रखते. ब्रेक्जिट चुनाव से पता चलता है कि कितनी जल्दी एक देश की आधी आबादी को उसी के खिलाफ वोट करने के लिए मनाया जा सकता है. यह एक बड़ी सीख है."

अक्टूबर तक नया प्रधानमंत्री

कांटे के इस मुक़ाबले में वो लोग थोड़ा पीछे रह गए, जो ब्रिटेन के यूरोपीय संघ के साथ रहने के पक्ष में थे. 48 प्रतिशत मतदाताओं ने 28 देशों वाले यूरोपीय संघ के पक्ष में रहने के लिए वोट दिया.

डेविड कैमरन ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा, "हालांकि मैं इस जहाज को धीरे-धीरे चलाने की कोशिश करूंगा. लेकिन मेरा ख्याल है कि अक्टूबर तक हमारे पास नया प्रधानमंत्री होना चाहिए."

1.74 करोड़ मतदाता ईयू के खिलाफ

ब्रिटेन में यूरोपीय संघ में रहने या न रहने के लिए हुए जनमत संग्रह में कुल 4 करोड़ 65 लाख से ज्यादा मतदाता थे. मतदान का कुल प्रतिशत 72.2 फीसदी रहा. एक करोड़ 74 लाख से ज्यादा मतदाताओं ने ईयू से ब्रिटेन के अलग होने के पक्ष में वोट डाले.

वहीं एक करोड़ 61 लाख से ज्यादा मतदाताओं ने यूरोपीय संघ के साथ बने रहने के लिए वोट दिया. इसके अलावा 26,033 वोट रद्द घोषित किए गए.

पूर्वोत्तर इंग्लैंड, वेल्स और मिडलैंड्स में ज्यादातर मतदाताओं ने यूरोपीय संघ से अलग होना पसंद किया है, जबकि लंदन, स्कॉटलैंड और नॉर्दन आयरलैंड के ज्यादातर मतदाता यूरोपीय संघ के साथ ही रहना चाहते थे.

ब्रिटेन के पीएम डेविड कैमरन ने कहा, "यूरोपीय यूनियन के बाहर भी ब्रिटेन अपना गुजारा कर सकता है. चूंकि अब फैसला हो चुका है लिहाजा हमें हालात से निपटने के लिए सर्वश्रेष्ठ तरीका अपनाना होगा."

यूरोपीय संघ में बने रहने के समर्थन में अपने अभियान पर सफाई देते हुए कैमरन ने कहा, "मैंने ये प्रचार अभियान उसी तरीके से किया जैसा मैं चाहता था. सीधे और भावनात्मक तौर पर जैसा मैं सोचता और महसूस करता हूं."

डेविड कैमरन ने संवाददाताओं से बातचीत करते हुए कहा, "ब्रिटेन के लोगों ने एक फैसला लिया है, जिसका न केवल सम्मान करना चाहिए बल्कि जो इस फैसले के खिलाफ हैं, उन्हें भी इसे अमल में लाने के लिए आगे आना चाहिए."

'जहाज को नया कैप्टन चाहिए'

साथ ही डेविड कैमरन ने कहा, "आने वाले हफ्ते और महीनों में इस जहाज को धीरे-धीरे चलाने के लिए मैं वह सब कुछ करूंगा, जो एक प्रधानमंत्री होने के नाते कर सकता हूं."

डेविड कैमरन ने अगले तीन महीने के दौरान प्रधानमंत्री का पद छोड़ने का एलान करते हुए कहा, "मुझे नहीं लगता कि मेरे लिए यह ठीक होगा कि मैं उस जहाज का कैप्टन बना रहूं जो हमारे देश को अगली मंजिल तक पहुंचाने वाला है."

First published: 24 June 2016, 14:09 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी