Home » इंटरनेशनल » dhaka attacks influenced by zakir nayak
 

ढाका हमला: मुस्लिम धर्मगुरु जाकिर नाइक जांच की जद में!

कैच ब्यूरो | Updated on: 6 July 2016, 16:04 IST
(ट्वीटर)

बांग्लादेश की राजधानी ढाका के रेस्त्रां पर हुए आतंकी हमले में शामिल एक आतंकी भारतीय मुस्लिम धर्मगुरु जाकिर नाइक से प्रभावित बताया जा रहा है.

अंग्रेजी अखबार 'इंडियन एक्सप्रेस' ने जब इस मामले में नाइक से पूछा, तो उन्होंने कहा, "क्या मुझे इस बात से हैरानी होनी चाहिए कि ढाका के हमलावर मुझे जानते थे, नहीं."

नाइक ने कहा, "फेसबुक पर मेरे एक करोड़ 14 लाख फॉलोअर हैं, वहीं 20 करोड़ लोग पीस टीवी देखते हैं, जिसमें उर्दू, बंगाली और चीनी भाषा में कार्यक्रम पेश किए जाते हैं. हो सकता हो कि वह मुझे पढ़ते-सुनते होंगे."

नाइक ने अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए कहा, "यह बात तो सभी जानते हैं कि फेसबुक पर मेरे सबसे ज्यादा प्रशंसक बांग्लादेश से ही हैं. वहां के करीब 90 फीसदी लोग मुझे मेरे विचारों के कारण जानते हैं. इसमें नेता, कारोबारी, छात्र और अन्य लोग भी शामिल हैं. ऐसे में क्या मुझे हैरानी होनी चाहिए कि हमलावर मुझे जानते थे, नहीं."

जरूरी कदम उठाएंगे: रिजिजू

इस बीच ढाका हमले में शामिल एक आतंकी के इस्लामिक धर्मगुरु जाकिर नाइक का फैन होने की खबर मिलने के बाद खुफिया एजेंसियां सतर्क हो गई हैं. एजेंसियों ने मुंबई के रहने वाले जाकिर नाइक के भाषणों और उनकी गतिविधियों की जांच शुरू कर दी है.

सूत्रों के मुताबिक राष्ट्रीय जांच एजेंसी एनआईए इस मामले में और जानकारी खंगाल रही है. जिसकी जांच के बाद एनआईए इस बात की संभावना तलाशेगा कि जाकिर के खिलाफ केस चल सकता है या नहीं.

इस बीच केंद्रीय गृह राज्यमंत्री किरण रिजिजू ने इस मामले में कहा है कि सुरक्षा एजेंसियां जरूरी कदम उठाएंगी. मैं इस पर अभी कोई टिप्पणी नहीं कर सकता.

नाइक पर प्रतिबंध लगाने की मांग

वहीं जाकिर नायक का कहना है, "हो सकता है कि ऐसा व्यक्ति पैगंबर मोहम्मद का कट्टर समर्थक हो, लेकिन क्या इसका मतलब यह है कि पैगंबर ने उससे लोगों को मारने को कहा होगा."

नायक ने कुरान का हवाला देते हुए कहा कि अगर कोई व्यक्ति किसी भी धर्म के व्यक्ति की हत्या करता है, तो वह पहले मानवता की हत्या करता है.

वहीं दूसरी ओर मुस्लिम संस्था रजा एकेडमी के अमानुल्लाह ने जाकिर नायक पर प्रतिबंध लगाने की मांग की. एकेडमी की ओर से कहा गया है कि नायक को मिलने वाले फंड की भी जांच होनी चाहिए.

हालांकि भारत सरकार ने एकेडमी की मांग को नकार दिया. सरकार का इस मामले में कहना है कि वह किसी संगठन पर प्रतिबंध लगा सकती है, किसी व्यक्ति पर नहीं.

विवादित धर्मगुरु जाकिर नाइक

गौरतलब है कि इस्लामिक धर्मगुरु जाकिर नाइक पहले भी विवादों में फंस चुके हैं. जाकिर ने एक बार मुंबई में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा था, "सभी मुस्लिमों को आतंकी बन चाहिए चाहिए. आतंकी मतलब ऐसा आदमी जो भय फैलाए. जब एक डकैत पुलिस वाले को देखता है तो वह आतंकित होता है. डकैत के लिए एक पुलिस वाला आतंकी है."

जाकिर नायक के इन विचारों की वजह से ब्रिटेन ने उन्हें अपने यहां प्रवेश से प्रतिबंधित कर दिया था. जाकिर को अपने टीवी कार्यक्रमों के लिए काफी जाना जाता है.

उन्होंने मुंबई में इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन की स्थापना भी की थी. वहीं 2003 में हुए मुलुंड ट्रेन ब्लास्ट के बाद से वह मुंबई पुलिस की जांच के घेरे में हैं.

First published: 6 July 2016, 16:04 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी