Home » इंटरनेशनल » dodnald trump warns Russia for the chemical attack in Syria says history will not forgive animal asad
 

सीरिया रासायनिक हमले पर नाराज ट्रम्प ने दी रूस को धमकी, असद को कहा जानवर

कैच ब्यूरो | Updated on: 9 April 2018, 9:25 IST

डोनाल्ड ट्रम्प ने सीरिया पर हुए रासायनिक हमले के लिए रूस, ईरान और सीरियाई राष्ट्रपति बशर अल-असद को जिम्मेदार ठहराया है. ट्रम्प ने चेतावनी भी दी की इस हमले में शामिल लोगों को इसकी भरी कीमत चुकानी पड़ेगी. रूस ने अभी तक आरोपों से इंकार किया है. रूस ने कहा कि यह दावा गलत है कि सीरियाई सरकार ने विपक्षी ठिकानों को ध्वस्त करने में केमिकल हथियारों का इस्तेमाल किया.

अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने ट्वीट किया कि सीरिया में मूर्खतापूर्ण केमिकल हमले में महिलाओं और बच्चों समेत कई लोगों की मौत हो गई. जहां पर केमिकल हमला हुआ, उसको सीरियाई सेना ने चारो ओर से घेर रखा है. ऐसे में वहां दुनिया के बाहर से कोई पहुंच ही नहीं सकता है. इस हमले के लिए असद का समर्थन करने के लिए रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन, रूस और ईरान जिम्मेदार हैं. इनको इसके लिए भारी कीमत चुकानी पड़ेगी.

ये भी पढ़ें- चीन ने डोकलाम के बाद चली नापाक चाल, अरूणाचल में पेट्रोलिंग को बताया 'अतिक्रमण'

इसके साथ ही सीरिया के मसले को लेकर अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा पर भी निशाना साधा. उन्होंने ट्वीट किया कि अगर पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा अपनी आगे बढ़कर कदम उठाते, तो सीरियाई आपदा का बहुत पहले ही खात्मा हो गया होता. इस हमले से नाराज ट्रम्प ने असद को जानवर कह डाला. ट्रम्प ने कहा कि जानवर असद इतिहास में निंदनीय होगा.

रासायनिक हमले में 70 की मौत 

सीरिया के पूर्वी गोता के विद्रोहियों के कब्जे वाले अंतिम शहर डौमा में हुए संदिग्ध रासायनिक हमले में कम से कम 70 लोग मारे गए. चिकित्सकों और बचाव कर्मियों ने रविवार को यह जानकारी दी.

बीबीसी के मुताबिक, स्वयंसेवी बचाव दल व्हाइट हेलमेट्स ने ग्राफिक तस्वीरें पोस्ट कीं, जिसमें शनिवार को हुए हमले के बाद बेसमेंट में पड़े कई शव नजर आ रहे हैं.
इसमें कहा गया कि मृतकों की संख्या बढ़ने की आशंका है. कई मेडिकल, निगरानी व कार्यकर्ता समूहों ने रासायनिक हमले के बारे में जानकारी दी है, लेकिन इनके आंकड़ों में भिन्नता है और क्या घटित हुआ था यह निर्धारित होना अभी बाकी है. विपक्ष समर्थक गोता मीडिया सेंटर ने कहा कि 75 से अधिक लोगों का दम घुट गया, जबकि हजारों लोगों को सांस लेने में तकलीफ से जूझना पड़ा. इसने आरोप लगाया कि हेलीकॉप्टर से विषाक्त नर्व एजेंट सरीन से युक्त बैरल बम गिराया गया.

ये भी पढ़ें- पाकिस्तान की सीनाजोरी, संघर्ष विराम उल्लंघन को लेकर भारतीय राजनयिक को किया तलब

एजेंसी के मुताबिक कथित हमलों पर प्रतिक्रिया में अमेरिकी विदेश विभाग के एक अधिकारी ने कहा, "हमने कई परेशान कर देने वाली रिपोर्ट देखी ..सीरियाई सरकार का अपने लोगों के खिलाफ रासायनिक हथियारों को इस्तेमाल करने का इतिहास रहा है." सरीन नर्व एजेंट का इस्तेमाल सीरिया में पहले भी हो चुका है.

First published: 9 April 2018, 8:46 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी