Home » इंटरनेशनल » Donald Trump Kim Summit in Singapore know about life of North Korean
 

कुछ ऐसी है नॉर्थ कोरिया के लोगों की जिंदगी, जहां तस्वीरें भी लेना है बैन

कैच ब्यूरो | Updated on: 12 June 2018, 10:22 IST

अमेरिका राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप और उत्तर कोरिया के सर्वोच्च नेता किम जोंग उन की आखिरकार सिंगापुर के सेंटोसा द्वीप में मुलाकात हो गई. दोनों नेताओं की मुलाकात पर पिछले कुछ दिनों से दुनिया भर के देशों की नजरें टिकी हुई हैं. किम का चीन के बाद उत्तर कोरिया के बाहर जाने का ये दूसरा मौका है.

किम और उत्तर कोरिया इन दिनों पूरी दुनिया में चर्चा का विषय बने हुए हैं. क्योंकि अपने देश में तानाशाही वाला सख्त कानून चलाने वाले किम अमेरिका के राष्ट्रपति से मिल रहे हैं. जिस देश में फोटो खींचना तक अपराध माना जाता है. उस देश का सर्वोच्च नेता सिंगापुर की गलियों में सेल्फी लेता दिखाई दे रहा हैं.

किम जोंग उन भले ही इन दिनों सिंगापुर की यात्रा पर हों, लेकिन उनका देश और वहां के लोगों की जिंदगी वैसी नहीं हैं जैसा किम दूसरों को दिखाने की कोशिश करते हैं. उत्तर कोरिया में आम लोगों की जिंदगी मुश्किलों से भरी हुई है. यहां के लोग गरीबी और बुरे हालातों में रहने को मजबूर हैं.

 

बता दें कि उत्तर कोरिया में लोकतंत्र के चौथे स्तंभ मीडिया यानी प्रेस को आजादी तक नहीं है. यहां तक कि विदेशी मेहमान भी यहां हर जगह तस्वीरें नहीं ले सकते. यही वजह है कि उत्तर कोरिया का रहस्य दुनिया के सामने नहीं आ पाता. हमारे देश में जिस सोशल मीडिया पर हम अपनी बात खुलकर रख सकते हैं. ऐसा भी उत्तर कोरिया में कुछ दिखाई नहीं देता. यहां के निवासी विदेशी टीवी और फिल्में भी नहीं देख सकते. इसीलिए उत्तर कोरिया को रहस्यमयी देश की संज्ञा दी जाती है.

 

हालांकि दुनिया के कुछ खोजी पत्रकार उत्तर कोरिया की कुछ तस्वीरें लेने में सफल रहे हैं. इन खोजी पत्रकारों का कहना है कि यहां के लोगों की जिंदगी खुशहाल नहीं है. काफी लोग गरीब हैं और अभाव की जिंदगी जी रहे हैं. अवैध रूप से सामने आई कुछ तस्वीरों में उत्तर कोरिया की गरीबी देखी जा सकती है. यहां कई लोग खाने के संकट से भी जूझते हैं, क्योंकि देश सैनिक सामानों पर अपना अधिक खर्च करता है.

बता दें कि उत्तर कोरिया की राजधानी प्योंग यांग में मेट्रो सेवाएं भी हैं, लेकिन कई हिस्से रात में अंधेरे में डूब जाते हैं. क्यों कि वहां बिजली की पर्याप्त सप्लाई नहीं होती.

ये भी पढ़ें- सीरिया ही नहीं इस देश के भी हैं बुरे हालात, बच्चों के सामने कर दिया जाता है मां का रेप

First published: 12 June 2018, 10:22 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी