Home » इंटरनेशनल » Dubai court Sentences two indians to 500 years of imprisonment to each in fraud case
 

दुबई: 2 भारतीयों को सुनाई गई 517-517 साल की सजा, करोड़ों की हेरा फेरी का आरोप

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 April 2018, 13:28 IST

दुबई की एक अदालत ने दो भारतीयों को 517 साल जेल की सजा सुनाई है. दोनों भारतीय पर करोड़ों डॉलर की धोखाधड़ी करने का मामला है. यही नहीं एक अपराधी की पत्नी को भी इस मामले में 517 साल की सजा सुनाई गई है.

दरअसल, गोवा के रहने वाले सिडनी लिमोस (37) और उनके अकाउंट स्पेशलिस्ट रियान डिसूजा (25) विदेशी मुद्रा व्यापार की कंपनी एक्सेंशियल चलाते हैं. इस कंपनी में हजारों लोगों ने करोड़ों डॉलर का निवेश किए. लिमोस ने अपनी कंपनी के जरिए लोगों को प्रलोभन दिया कि वह 25 हजार डॉलर के निवेश पर उन्हें 120 प्रतिशत का न्यूनतम सालाना रिटर्न देंगे. लेकिन इसके बाद कंपनी में धोखाधड़ी के मामले सामने आने लगे.

कंपनी के मालिक सिडनी लेमोस और उसकी पत्नी वलाने और रियान डिसूजा के खिलाफ 200 मिलियन डॉलर धोखाधड़ी के 515 मामले दर्ज थे. कोर्ट के अनुसार उन्हें हर एक मामले के लिए एक-एक साल की सजा सुनाई. साथ ही दो अन्य मामलों में 2-2 साल की सजा सुनाई गई है. इस तरह कोर्ट ने तीनों को 515 मामलों में 517 साल की जेल की सजा सुना दी.

बताया जा रहा है कि इस घोटाले का खुलासा पिछले साल हुआ था. अभियोजन पक्ष ने आरोपियों के मामले को 31 अक्टूबर को स्पेशल पैनल को सौंप दिया था. उसके बाद मामले की सुनवाई 25 दिसंबर को हुई थी. जिस पर फैसला रविवार को आया. आरोपी अब अपनी सजा पर कोर्ट में अपील कर सकते हैं. स्पेशल बेंच के प्रिसाइडिंग जज डॉक्टर मोहम्मद हनाफी ने अपराधियों को कोर्टरूम में फैसला सुनाने में महज 10 मिनट ही लिए.

बता दें कि गल्फ कानून के निदेशक अट्टी बार्नी अलमजार इन पीड़ितों की मदद करने के लिए फिलिपींस दूतावास के साथ काम कर रहे हैं. साथ ही वे सैकड़ों फिलिपींस नागरिकों के वकील भी हैं. जिन्होंने एक्सेंशियल में निवेश किया था. बताया जा रहा है कि 90 पीड़ितों के समूह ने अपनी रिटायरमेंट और जीवन भर बचत का पैसा इसमें लगा दिया था. जबकि कई लोगों ने लोन लेकर इस कंपनी में निवेश किया था.

ये भी पढ़ें- उन्नाव गैंगरेप केस: SC में वकील ने दायर की याचिका, कहा- मामले की CBI जांच हो

First published: 11 April 2018, 13:28 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी