Home » इंटरनेशनल » Due to new immigration policy, large number of Indian students have been sent back from America
 

ऑनलाइन क्लासेस पढ़ रहे विदेशी छात्रों को अमेरिका से वापस भेजेगा ट्रंप प्रशासन

कैच ब्यूरो | Updated on: 7 July 2020, 10:33 IST

अमेरिकी में राष्ट्रपति ट्रंप की नई इमिग्रेशन पॉलिसी के कारण वहां पढाई कर रहे कई भारतीय और अन्य विदेशी छात्र मुश्किल में पड़ सकते हैं. नए आदेश में कहा गया है कि जिन छात्रों की कोरोना वायरस महामारी के कारण ऑनलाइन कक्षाएं चल रही हैं, उन्हें देश छोड़ना होगा या किसी अन्य कॉलेज में स्थानांतरित करना होगा. हालांकि यह आदेश केवल ऑनलाइन पढाई कर रहे छात्रों पर लागू होगा. यूएस इमीग्रेशन एंड कस्टम एनफोर्समेंट (ICE) द्वारा 6 जुलाई के बयान में कहा गया है ऑनलाइन कक्षाओं के कारण वहां रहने का विदेशी छात्रों के पास कोई ठोस कारण नहीं है. दक्षिणी कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय में अंतर्राष्ट्रीय छात्र कार्यालय के अधिकारियों ने बताया कि वे अभी भी नई जानकारी का विश्लेषण कर रहे हैं और वह ऐसे छात्रों को उनके देश भेजने की तैयारी में हैं.

होमलैंड सिक्योरिटी विभाग की एक रिपोर्ट की माने तो वर्तमान में 11 लाख से अधिक विदेशी छात्रों के पास अमेरिका में एक्टिव स्टूडेंट वीजा है. आईसीई के अनुसार F-1 के छात्र अकेडमिक कोर्स वर्क में शामिल होते हैं, जबकि M-1 स्टूडेंट 'वोकेशनल कोर्सवर्क' करते हैं. एफ 1 वीजा अंतरराष्ट्रीय छात्रों को दिया जाता है जो एक यूएस कॉलेज या विश्वविद्यालय में शैक्षणिक कार्यक्रम या अंग्रेजी भाषा कार्यक्रम में भाग लेते हैं. ये छात्र अपने शैक्षणिक कार्यक्रम को पूरा करने में लगने वाले समय से 60 दिन पहले तक अमेरिका में रह सकते हैं.


एम 1 वीजा का उपयोग ऐसे छात्रों द्वारा किया जाता है जो गैर-शैक्षणिक या व्यावसायिक पाठ्यक्रम पढ़ना चाहते हैं. कोरोना संक्रमण के कारण अमेरिका के कई बड़ी यूनिवर्सिटीज ने पहले ही ऑनलाइन पढ़ाई शुरू कर दी है. हार्वर्ड ने भी अपने सभी कोर्स ऑनलाइन शुरू कर दिए हैं और कैंपस में रह रहे छात्रों को भी अब क्लास जाने की जरूरत नहीं है.

हालही में ट्रंप प्रशासन ने वीजा नियमों को कठोर कर दिया है. आगामी अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में डेमोक्रेटिक उम्मीदवार और अमेरिका के पूर्व उप-राष्ट्रपति जो बिडेन (Joe Biden) का कहना है कि अगर वह नवंबर में राष्ट्रपति चुनाव जीतते हैं, तो भारतीय आईटी पेशेवरों में सबसे अधिक मांग वाले एच-1 बी वीजा (H-1B Visa) पर लगी स्थाई रोक वह हटा देंगे. 23 जून राष्ट्रपति ट्रंप ने भारतीय पेशेवरों को बड़ा झटका देते हुए एच -1 बी वीजा को 2020 के अंत तक निलंबित कर दिया था.

बिडेन बने अमेरिकी राष्ट्रपति तो भारतीयों को देंगे ये बड़ा तोहफा, मुस्लिमों को लेकर भी की बड़ी घोषणा

First published: 7 July 2020, 10:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी