Home » इंटरनेशनल » Dutch church clocks up 1,400 hours to prevent family being deported
 

यहां के चर्च में 1500 घंटे से चल रही है प्रार्थना, किसी चमत्कार की कर रहे हैं उम्मीद

कैच ब्यूरो | Updated on: 27 December 2018, 16:16 IST

नीदरलैंड में एक परिवार को देश निकाले से बचाने के लिए पिछले 1400 घंटे से चर्च में प्रार्थना चल रही है. जानकारी के मुताबिक 26 अक्तूबर से यहां की एक चर्च में लगातार लोग प्रार्थना कर रहे हैं. इस प्रार्थना का मकसद एक आर्मेनियाई परिवार का देश निकाला से रोकना है.

स्थानीय मीडिया के मुताबिक इस परिवार से हो रहे देश निकाले से बचाने के लिए क्रिसमस के मौके पर चर्च में प्रवेश पर लोगों को टिकट जारी किया गया. बता दें कि डच कानून के मुताबिक प्रार्थना के दौरान पुलिस चर्च में प्रवेश नहीं कर सकती है. इस परिवार को बचाने के लिए चर्च के पादरियों ने इस परिवार को चर्च में रहने की अनुमति दी. अर्मेनियाई परिवार को बचाने के लिए बीते 62 दिन से 100 से अधिक पादरी और वॉलंटियर प्रार्थना कराने में लगे हुए हैं.

बेथल चर्च के एक्सेल विके ने बताया कि प्रार्थनाएं तीर्थयात्रा की तरह होती हैं जिससे प्रभु खुश होकर आपकी मुराद पूरी करते हैं. बता दें कि क्रिसमस ईव और क्रिसमस के दिन सबसे अधिक लोग प्रार्थना करने के लिए जुटते हैं. ऐसा माना जा रहा है कि प्रभु उनकी सुन लेंगे और इस परिवार को नीदरलैंड में रहने की अनुमति मिल जाएगी.

बता दें कि पिछले नौ सालों से एक आर्मेनियाई परिवार नीदरलैंड में रह रहा है. लेकिन कुछ महीने पहले डच सरकार ने इस रिफ्यूजी परिवार की रहने की अवधि को खत्म कर दिया. जिसके बाद नीदरलैंड के लोग एकजुट होकर सरकार से उन्हें रोकने की गुजारिश करने लगे. पिछले सप्ताह चर्च ने जारी बयान में कहा कि गृह मंत्री द्वारा यह संदेश हमारे लिए निराशाजनक है. इस परिवार को देश से निकाले जाने से रोकने के लिए चर्च लगातार प्रार्थना कर रहा है.

पांच लोगों के इस परिवार की 21 साल की लड़की हयार्पी ने ट्वीटर पर कुछ फोटो शेयर करते हुए लिखा है कि यह मुझे और मेरे परिवार को मजबूती दे रहा है. उन्होंने कहा कि वो और उसके भाई, बहन सभी नीदरलैंड में ही पले बढ़े हैं, ऐसे में उनका नीदरलैंड छोड़ने का कोई इरादा नहीं है. अब इस परिवार को चर्च में चल रही प्रार्थना से कोई चमत्कार होने की उम्मीद है.

ये भी पढ़ें- इस आलीशान होटल में रुकने वालों के साथ होता है कुछ ऐसा, रात होते ही कांपने लगते हैं लोग

First published: 27 December 2018, 16:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी