Home » इंटरनेशनल » ताइवान में दो दिनों से भूकंप के झटके महसूस किये जा रहे थे. ताइवान के हुआलिन शहर में भूकंप से काफी नुकसान हुआ है.
 

जब सोते शहर पर आयी ये बड़ी आफत

कैच ब्यूरो | Updated on: 7 February 2018, 9:57 IST

ताइवान में दो दिनों से भूकंप के झटके महसूस किये जा रहे थे. ताइवान के हुआलिन शहर में भूकंप से काफी नुकसान हुआ है. भूकंप से हुआलिन शहर की कई इमारतों को काफी नुकासान भी पहुंचा है. बताया जा रहा है कि एक होटल की इमारत के ढहने से मलबे में 30 लोग फंस गए हैं.

न्यूज एजेंसी एएफपी से मिली जानकारी के मुताबिक इस भूकंप की तीव्रता रिक्टर स्केल पर 6.4 थी. बताया जा रहा है कि एक होटल की इमारत के ढहने से मलबे में 30 लोग फंस गए हैं. स्थानीय प्रशासन ने राहत और बचाव का कार्य शुरू कर दिया है.

ताइवान के अधिकारियों के अनुसार 6.4 तीव्रता वाले इस भूकंप की वजह से अभी तक कम से कम दो लोगों के मारे जाने की पुष्टि हुई है. इनके अलावा कम से कम दो सौ लोग घायल बताए जा रहे हैं. वहां रहने वाले लोगों को भूकंप के बाद आने वाले झटकों की वजह से और गैस लीक की संभावना खत्म होने तक घर न लौटने की सलाह दी गई है.

ताइवान के अधिकारियों के अनुसार 6.4 तीव्रता वाले इस भूकंप की वजह से अभी तक कम से कम दो लोगों के मारे जाने की पुष्टि हुई है. इनके अलावा कम से कम दो सौ लोग घायल बताए जा रहे हैं. वहां रहने वाले लोगों को भूकंप के बाद आने वाले झटकों की वजह से और गैस लीक की संभावना खत्म होने तक घर न लौटने की सलाह दी गई है.

 

 
मार्शल होटल के ग्राउंड फ्लोर पर कई लोग दब गए हैं. स्थानीय लोगों की मदद से राहत और बचाव का काम चलाया जा रहा है. स्थानीय मीडिया के मुताबिक, एक होटल की इमारत झुक गई है और एक पुल इस्तेमाल के लायक नहीं रह गया है. जानकारी के अनुसार तीन दिनों में यह दूसरी बार है जब ताइवान में ये भूकंप आया है. रविवार को भी यहां पर 6.1 तीव्रता का भूकंप आया था.
वहां रहने वाले लोगों को भूकंप के बाद आने वाले झटकों की वजह से और गैस लीक की संभावना खत्म होने तक घर न लौटने की सलाह दी गई है. 

 

ताइवान की राजधानी ताइपे है. यह देश का वित्तीय केंद्र भी है और यह नगर देश के उत्तरी भाग में स्थित है. आधिकारिक तौर पर इसका नाम 'रिपब्लिक ऑफ चाइना' है. ताइवान की भौगोलिक स्थिति कुछ इस तरह है कि वहां दो भूगर्भीय प्लेटें आपस में मिलती हैं. इसकी वजह से भूकंप नियमित रूप से आते रहते हैं.

First published: 7 February 2018, 8:49 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी