Home » इंटरनेशनल » ecuador: 77 dead in powerful earthquake
 

इक्वाडोर: 40 साल बाद भीषण भूकंप, करीब 250 की मौत

कैच ब्यूरो | Updated on: 18 April 2016, 12:50 IST

इक्वाडोर में आए भीषण भूकंप में मरने वालों की तादाद 246 तक पहुंच गई है. मृतकों की संख्या बढ़ने की आशंका है. मलबे में बहुत से लोग दबे हुए हैं. राहत और बचाव कार्य जारी है.

उपराष्ट्रपति जॉर्ज ग्लास के मुताबिक भूकंप की वजह से करीब ढाई हजार लोग जख्मी हुए हैं. वहीं राष्ट्रपति राफेल अपनी वेटिकन यात्रा को बीच में ही स्थगित करके देश लौट आए हैं. 

रविवार को इक्वाडोर में 7.8 तीव्रता वाले भूकंप के तेज झटकों से उत्तर पश्चिमी इलाके में तबाही का मंजर है. प्रशांत क्षेत्र के रिंग ऑफ फायर में स्थित होने की वजह से इक्वाडोर में भूकंप आते रहते हैं.

शनिवार रात को आए भूकंप के तेज झटके करीब एक मिनट तक महसूस किए गए. पिछले 40 साल में इक्वाडोर में ऐसा भीषण भूकंप नहीं आया था. भूकंप से बहुत सारी इमारतें ढह गई हैं.

 

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक यूएस जियोलॉजिकल सर्वे (यूएसजीएस) की रिपोर्ट में बताया गया है कि इक्वाडोर में 7.8 तीव्रता का भीषण भूकंप आया. इसके तेज झटके राजधानी क्विटो में महसूस किए गए. सरकार ने स्थानीय तटों के लिए सुनामी की चेतावनी भी जारी की है.

eqvador

इस भूकंप के बाद प्रशांत सुनामी चेतावनी केंद्र ने कहा कि, ‘भूकंप के प्रारंभिक पैमानों के आधार पर भूकंप के केंद्र के 300 किलोमीटर के दायरे के अंदर पड़ने वाले तटों पर सुनामी की खतरनाक लहरें उठ सकती हैं.'

यूएसजीएस ने कहा कि यह भूकंप अंतरराष्ट्रीय समयानुसार रात 11 बजकर 58 मिनट पर क्विटो से 173 किलोमीटर उत्तरपश्चिम में और मिज्न से महज 27 किलोमीटर दक्षिणपूर्व में आया. भूकंप का केंद्र 10 किलोमीटर की गहराई में था.

eqvador1

यूएसजीएस के मुताबिक दरअसल एक ही इलाके में 11 मिनट के अंतर पर दो भूकंप आ गए. पहले वाले भूकंप की तीव्रता 4.8 थी और दूसरे की तीव्रता 7.8 थी.

इस बीच समाचार एजेंसी एपी की एक खबर के अनुसार शहर के निवासियों ने ढह चुके मकानों, शॉपिंग सेंटर की गिरती छत और सुपरमार्केट की तेजी से हिलती अलमारियों की तस्वीरें सोशल मीडिया पर साझा कीं. इसके अलावा नियंत्रक टावर को भारी नुकसान होने के बाद मांता में हवाई अड्डे को बंद कर दिया गया.

First published: 18 April 2016, 12:50 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी