Home » इंटरनेशनल » Egypt mosque attack leaves at least 300 dead in Sinai Peninsula
 

मस्जिद में नमा़जियों पर हुआ आतंकी हमला, 300 की मौत

कैच ब्यूरो | Updated on: 25 November 2017, 13:33 IST

मिस्र के सिनाई प्रायद्वीप में शुक्रवार को एक मस्जिद पर हुए आतंकी हमले में कम से कम 300 लोगों की मौत हो गई और 125 अन्य घायल हो गए.

इस इलाके में आम नागरिकों पर हुआ यह अब तक का सबसे बड़ा हमला है. समाचार एजेंसी एफे ने एक सुरक्षा सूत्र के हवाले से बताया, उत्तरी शहर अरीश के बीर अल-अब्द कस्बे में स्थित अल रवदाह मस्जिद में आतंकवादियों ने घरों में बने विस्फोटकों को लगाया और जब लोग नमाज पढ़कर लौट रहे थे, उसी दौरान विस्फोट किया. जिन व्यक्तियों ने बचकर भागने की कोशिश की, उन पर आतंकवादियों ने गोलियां भी चलाई.

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने मस्जिद पर हुए आतंकवादी हमले की निंदा की. ट्रंप ने आतंकवादियों के खिलाफ सैन्य कार्रवाई से निपटने की प्रतिबद्धता जताई. ट्रंप ने ट्वीट कर मिस्र के उत्तरी सिनाई क्षेत्र में निर्दोष और बेबस नमाजियों पर हुए इस हमले को भयावह और कायराना आतंकवादी हमला बताया.

ट्रंप ने ट्वीट कर कहा, "यह विश्व आतंकवाद को सहन नहीं कर सकता. हमें उन्हें सैन्य रूप से पराजित करना चाहिए और उनकी इस चरमपंथी विचारधारा के वजूद को खत्म करना चाहिए."

मिस्र के राष्ट्रपति अब्देल फतह अल सीसी ने शुक्रवार को सिनाई प्रायद्वीप की एक मस्जिद पर हुए बर्बर हमले की निंदा की. समाचार एजेंसी एफे के मुताबिक, अब्देल फतह अल सीसी ने टेलीविजन संबोधन में कहा कि यह देश के इतिहास में अब तक का सबसे भयावह आतंकवादी हमला है.

अल सीसी ने कहा कि मिस्र के सुरक्षाबल इन मौतों का बदला लेंगे, क्षेत्र में स्थिरता बहाल करेंगे और इन आतंकवादी हमलों का मुंहतोड़ जवाब देंगे. उन्होंने कहा, "यह आतंकवाद से निपटने के लिए किए जा रहे हमारे प्रयत्नों को रोकने का प्रयास था. यह हमारी इच्छाशक्ति को खत्म करने का प्रयास था."

उन्होंने कहा, "हम अपने प्रयास जारी रखेंगे. जैसा कि मैंने कहा, इस हमले से हमारी प्रतिबद्धता बढ़ेगी. हमारी सेना और पुलिस शहीदों की मौत का बदला लेंगे और अगले कुछ दिनों में स्थिरता और सुरक्षा की बहाली करेंगे." राष्ट्रपति ने देश में तीन दिन के राष्ट्रीय शोक का एलान किया है. अभी तक किसी भी आतंकवादी संगठन ने इस हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है.

पाकिस्तान ने आतंकवादी हमले की निंदा को लेकर जारी बयान में बताया, "पाकिस्तान की सरकार और यहां के लोग मिस्र के उत्तरी सिनाई क्षेत्र में अल-रावदाह मस्जिद में निर्दोष नमाजियों पर हुए आतंकवादी हमले की कड़े शब्दों में निंदा करते हैं." विदेश मंत्रालय की ओर से जारी बयान के मुताबिक, "पाकिस्तान के लोग इस मूर्खतापूर्ण और बर्बर कृत्य से दुखी हैं और इस दुख की घड़ी में मिस्र के साथ मुस्तैदी से खड़े हैं."

First published: 25 November 2017, 13:33 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी