Home » इंटरनेशनल » European Union election observer mission raise questions on pakistan election
 

पाकिस्तान के चुनाव पर यूरोपियन संघ ने भी उठाये सवाल, कही ये बड़ी बातें

कैच ब्यूरो | Updated on: 28 July 2018, 13:07 IST

हालही में सम्पन हुए पाकिस्तान के आम चुनावों पर यूरोपीय संघ के (ईयू) चुनाव पर्यवेक्षक मिशन ने सवाल उठाये हैं.
चुनाव पर्यवेक्षक मिशन ने कहा है कि 25 जुलाई को हुए चुनाव को देश के राजनीतिक माहौल का नकारात्मक प्रभाव पड़ा और सभी पार्टियों को प्रचार के लिए समान अवसर नहीं मिला. इस्लामाबाद में शुक्रवार को मिशन की टिप्पणियां आयी.

पाकिस्तान के आम चुनाव में इमरान खान की तेहरिक-ए-इंसाफ (पीटीआई) ने 117 सीटें जीतीं जबकि नवाज शरीफ की पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) ने 64 और भुट्टो-जरदारी की पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) 43 सीटें जीती.

इससे पहले मतदान के लगभग 48 घंटे बाद एक चुनाव आयोग के अधिकारी ने कहा था कि नेशनल असेंबली का मतदान 51.85% रहा, जो 2013 के मुकाबले तीन प्रतिशत कम है. पर्यवेक्षक मिशन की टीम ने कहा है, ‘चुनाव कई प्रतिबंधों से प्रभावित रहा. वोटिंग प्रक्रिया पारदर्शी रही, लेकिन मतगणना में कुछ न कुछ गड़बड़ हुई.’

ईयू पर्यवेक्षक मिशन ने कहा ''चुनाव अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता पर प्रतिबंधों से प्रभावित हुआ था हालांकि मतदान पारदर्शी था. जबकि गिनती कुछ हद तक समस्याग्रस्त थीं, कर्मचारी हमेशा प्रक्रियाओं का पालन नहीं करते थे''.

एक संपादकीय में कराची स्थित डॉन अख़बार ने लिखा "मतों की गिनती की प्रक्रिया के चौंकाने वाले कुप्रबंधन और मतदान केंद्र में परिणामों की घोषणा करने से यह आवश्यक हो गया है किचुनाव की औपचारिकताएं पूरी होने के बाद पाकिस्तान चुनाव आयोग के सभी वरिष्ठ अधिकारियों को अपने पदों से इस्तीफा दे देना चाहिए और जितनी जल्दी हो सके इस पर एक उच्चस्तरीय जांच शुरू की जानी चाहिए.’

ये भी पढ़ें : ईरान की ट्रम्प को धमकी- शुरू तुम करोगे खत्म हम करेंगे

First published: 28 July 2018, 12:55 IST
 
अगली कहानी