Home » इंटरनेशनल » Facebook begins Europe-wide campaign against extremist posts
 

क्या है चरमपंथ से निपटने की फेसबुक की योजना?

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 February 2017, 1:48 IST

फेसबुक ने सोशल मीडिया पर भड़काऊ और अतिवादी पोस्ट को हटाने के लिए यूरोप में व्यापक अभियान शुरू किया है. समाचार एजेंसी रॉयटर्स के अनुसार जर्मन नेताओं की आपत्ति के बाद फेसबुक ने सोमवार से चरमपंथी तत्वों के आपत्तिजनक कमेंट हटाने की शुरुआत की है.

जर्मनी के नेताओं ने हाल में ही शरणार्थियों के खिलाफ हो रही अभ्रद टिप्पणियों पर चिंता व्यक्त की थी. जिसके बाद बर्लिन में फेसबुक ने 'इनिशिएटिव फॉर सिविल करेज ऑनलाइन' अभियान शुरू किया. इसके तहत अभ्रद और भड़काऊ पोस्टों को हटाने के लिए फेसबुक गैर-सरकारी संगठनों के ऊपर 10 लाख यूरो खर्च करने जा रहा है.

फेसबुक की चीफ ऑपरेटिंग ऑफिसर (सीओओ) श्रेयल सैंडबर्ग ने कहा है कि भड़काऊ भाषणों के लिए हमारे समाज में कोई स्थान नहीं है और इंटरनेट पर भी नहीं है.

शुक्रवार को फेसबुक ने कहा है कि जर्मनी में जातिवादी टिप्पणियों को हटाने के लिए उसने प्रकाशक बर्रटल्समैन की एक  यूनिट को किराए पर लिया है.

पिछले साल नवंबर में फेसबुक को जबर्दस्त आलोचनाओं को शिकार होना पड़ा था. फेसबुक भड़काऊ भाषणों पर क्या कार्रवाई कर रहा है इसके लिए उसके खिलाफ जांच भी की गई थी.

जर्मनी की चांसलर एंजेला मर्केल ने इस मामले में फेसबुक से और सक्रिय कार्रवाई का अाग्रह किया है. वहां के न्याय मंत्रालय ने फेसबुक, अन्य सोशल मीडिया साइट्स और इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर के साथ एक टॉस्क फोर्स का गठन किया. टॉस्क फोर्स के माध्यम से आपराधिक पोस्टों पर नजर रखने के साथ उन पर कानूनी कार्रवाई करने का भी विचार है.

First published: 19 January 2016, 3:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी