Home » इंटरनेशनल » Fight against Corona Virus: Ireland PM Leo Varadkar to work as doctor during Covid-19 epidemic
 

कोरोना से लड़ाई लड़ने के लिए खुद मैदान में उतरा इस देश का प्रधानमंत्री, कोविड-19 पीड़ितों का करेंगे इलाज

कैच ब्यूरो | Updated on: 7 April 2020, 11:10 IST

Fight against Corona Virus: कोरोना वायरस (Corona Virus) ने पूूरी दुनिया को अपनी जद में ले लिया है. कोरोना से आम नागरिक ही नहीं बल्कि नेता, अभिनेता और खुद डॉक्टर भी पीड़ित हो गए हैं. ऐसे में हर किसी को ये चिंता सता रही है कि आखिर वो कोरोना से कैसे बचे. ब्रिटेन (Britain) के प्रधानमंत्री बोरिस जोनसन (Prime Minister Boris Johnson) खुद कोरोना संक्रमित (Corona Infected) हो गए हैं. मंगलवार को उन्हें आईसीयू (ICU) में शिफ्ट किया गया है. कोरोना ने यूरोप में भी जमकर तांडव मचा रखा है. आयरलैंड (Ireland) भी इससे अछूता नहीं रहा है. अब आयरलैंड के प्रधानमंत्री ने कोरोना से लड़ाई में साथ देने का फैसला लिया है.

दरअसल, अब आयरलैंड के प्रधानमंत्री लियो वरडकर (PM Leo Varadkar) खुद पीड़ितों का इलाज करते नजर आएंगे. भारतीय मूल के लियो वरडकर पेशे से एक डॉक्टर हैं ऐसे में वो हर हाल में लोगों की सेवा करना चाहते हैं. इसी उद्देश्य को पूरा करने के लिए खुद लियो वरडकर दोबारा से चिकित्सक की भूमिका निभाते नजर आएंगे. यही नहीं उनके अलावा उनके परिवार के कई सदस्य भी देश की स्वास्थ्य सेवा में काम कर रहे हैं. बता दें कि प्रधानमंत्री लियो वरडकर राजनीति में आने से पहले प्रोफेशनल डॉक्टर थे.


'द आयरिश टाइम्स के मुताबिक, प्रधानमंत्री लियो वरडकर ने मार्च में चिकित्सा रजिस्टर में फिर से पंजीकरण कराया था. इसी महीने कोरोना वायरस ने देश को अपनी चपेट में लिया था. 41 साल के वरडकर ने देश की हेल्थ सर्विस एक्जीक्यूटिव (HSE) में काम करने का फैसला किया है, जो उन लोगों को फोन पर जानकारी मुहैया कराती है जिन्हें लगता है कि वह कोरोना वायरस से संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आ गए हैं.

प्रधानमंत्री कार्यालय के एक प्रवक्ता के मुताबिक, पीएम के परिवार के कई सदस्य और दोस्त स्वास्थ्य सेवा में काम कर रहे हैं. वह इस छोटे से तरीके से मदद करना चाहते थे. बता दें कि वरडकर ने मेडिसिन की पढ़ाई की है और सात साल तक डॉक्टर के तौर पर काम किया है. वह साल 2017 में आयरलैंड के सबसे युवा प्रधानमंत्री बने थे. वह पहले घोषित समलैंगिक प्रधानमंत्री हैं.

उन्होंने मुंबई के किंग एडवर्ड मेमोरियल अस्पताल में इंटरशिप की और साल 2013 में डॉक्टर के तौर पर अपना पंजीकरण कराया था. उनके साथी मैथ्यू बरेट के साथ-साथ उनकी दोनों बहनें एवं बहनोई भी आयलैंड की स्वास्थ्य सेवा में काम कर रहे है. खबरों के मुताबिक, प्रधानमंत्री लियो वरडकर हर हफ्ते एक शिफ्ट में अपनी सेवाएं देंगे और कोविड-19 के संकट के दौरान देश का नेतृत्व करना भी जारी रखेंगे.

coronavirus; 76 दिनों से पूरी तरह बंद था चीन का वुहान, 8 अप्रैल से शुरू करेगा पब्लिक ट्रांसपोर्ट

कोरोना वायरस: अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने फिर मांगी भारत से मदद, दवाईयां न भेजने पर जबावी कार्रवाई की धमकी

कोरोना वायरस: अमेरिका में मौत का तांडव, एक दिन में 1,255 की मौत, 30 हजार से ज्यादा मिले पॉजिटिव

First published: 7 April 2020, 11:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी