Home » इंटरनेशनल » Firing In American City Pittsburgh 11 People Killed And Many On Life Congregation Synagogue
 

अमेरिका के पिट्सबर्ग में अंधाधुंध गोलीबारी में 11 लोगों की मौत, कई घायल

कैच ब्यूरो | Updated on: 28 October 2018, 10:20 IST

अमेरिका में भले ही लोग गन कल्चर का विरोध करते रहे हों, लेकिन यहां गोलीबारी की घटनाएं कम होने का नाम नहीं ले रहीं. शनिवार को एक बार फिर यहां खूनखराबा देखने को मिला. पेंसिलवेनिया राज्य के पिट्सबर्ग शहर में एक शख्स ने यहूदी उपासनागृह में अंधाधुंध गोलीबारी कर दी. जिसमें कम से कम 11 लोगों की मौत हो गई. वहीं 6 लोग घायल हो गए.

घायलों में कुछ की हालत गंभीर बताई जा रही है. घायलों में तीन पुलिसकर्मी भी शामिल हैं. जवाबी गोलीबारी में घायल होने के बाद हमलावर रॉबर्ट बोवर्स ने आत्मसमर्पण कर दिया. खबरों के मुताबिक हमलावर दाढ़ी वाला और श्वेत व्यक्ति है. घायल होने की वजह से उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है. जहां पुलिस उससे पूछताछ कर रही है.

एफबीआई इसे घृणा अपराध मानकर घटना की जांच कर रही है. बताया जा रहा है कि गोलीबारी करने से पहले हमलावर कथित रूप से भवन में घुसा और चिल्लाया ‘सभी यहूदियों को मर जाना चाहिए.’ इस बीच इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने कहा है कि यहूदी उपासनागृह में हुए इस भयानक हमले को लेकर उनका देश अमेरिका के साथ है.

वहीं अमेरिका के राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप ने ट्वीट कर कहा, 'पिट्सबर्ग की घटना के बारे में जितना सोचा गया, यह उससे ज्यादा भयानक है. मैंने मेयर और गवर्नर से बात की है और उनसे कहा कि फेडरल गवर्नमेंट हर तरह से उनके साथ रही है और साथ रहेगी.' घटना के बाद ट्रंप ने कहा कि ऐसे अपराध करने वाले व्यक्ति को मौत की सजा दी जानी चाहिए.

मीडिया से बातचीत करते हुए ट्रंप ने कहा कि अगर पूजा स्थल के भीतर कोई सुरक्षाकर्मी मौजूद होता तो नतीजे अलग होते. उन्होंने सीधे तौर पर पूजा स्थलों के भीतर सशस्त्र गार्ड की तैनाती की बात कही है. ट्रंप ने कहा कि पूजा स्थल के अंदर अगर कोई गार्ड तैनात होता तो शायद किसी की जान ना जाती.

ये भी पढ़ें- बेेटे को मारने के लिए मां ने Google से खोजा खतरनाक तरीका, फिर ऐसे दी दिल दहला देने वाली मौत

First published: 28 October 2018, 10:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी