Home » इंटरनेशनल » France: Terrorist drives truck through crowd in Nice city during National Day programme
 

फ्रांस: नीस में नेशनल डे समारोह में बड़ा आतंकी हमला, ट्रक सवार ने ली 84 की जान

कैच ब्यूरो | Updated on: 16 July 2016, 10:22 IST
(एएफपी)

फ्रांस के नीस शहर में एक बड़े आतंकी हमले में 84 लोगों की मौत हो गई है. यहां एक शख्स ट्रक को लेकर शहर में फ्रेंच नेशनल डे के समारोह के लिए जुटी भीड़ में घुस गया. बताया जा रहा है कि हमलावर ने लोगों को रौंदने के बाद फायरिंग भी की.

हमले में कम से कम 84 लोगों की मौत हो गई है, जबकि करीब 100 लोग घायल बताए जा रहे हैं. लोग बैस्टिल डे के मौके पर आतिशबाजी देखने के लिए जुटे हुए थे.

बताया जा रहा है कि ट्रक करीब दो किलोमीटर तक लोगों को कुचलता हुआ नेशनल डे की परेड के दौरान घुस गया. पुलिस ने आरोपी ट्रक ड्राइवर को मार गिराया है.

नीस में ट्रक सवार शख्स ने लोगों को कुचलने के बाद अंधाधुंध फायरिंग की (एएनआई)

हमलावर ट्यूनीशियाई मूल फ्रेंच नागरिक

फ्रेंच मीडिया के मुताबिक कुख्यात आतंकी संगठन आईएसआईएस ने हमले की जिम्मेदारी ली है. कार्रवाई के दौरान पुलिस ने ट्रक ड्राइवर को मार गिराया.उसकी पहचान फ्रेंच-ट्यूनीशियाई मूल के मोहम्मद लावेइज बूहलल के तौर पर हुई.

वहीं हमले के एक संदिग्ध के मौके से फरार होने की खबर भी है. सुरक्षाबलों ने पूरे इलाके को घेर लिया है और तलाशी अभियान जारी है.

फ्रेंच-ट्यूनीशिया पहचान पत्र

पुलिस के सूत्रों से जानकारी मिली है कि ट्रक में फ्रेंच-ट्यूनिशिया के पहचान पत्र पाए गए हैं. फ्रेंच राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद ने आतंकी हमला होने से इनकार नहीं किया है. 

पढ़ें: पेरिस हमलाः बदलना होगा आतंकवाद से लड़ने का तरीका

भारत के विदेश मंत्रालय ने बताया है कि पेरिस में भारतीय राजदूत हमारे नागरिकों के संपर्क में हैं और अभी तक किसी के हताहत होने की खबर नहीं है. इसके अलावा पेरिस में भारतीय दूतावास ने हेल्पलाइन नंबर +33-1-40507070 जारी किया है. 

हथियारों और ग्रेनेड से भरा ट्रक

पहले खबर आ रही थी कि नीस शहर में हादसा हुआ है, लेकिन फ्रेंच अधिकारियों ने इसे एक हमला बताया है. एक अंग्रेजी वेबसाइट की खबर के मुताबिक एक प्रत्यक्षदर्शी ने बताया कि ड्राइवर ने भीड़ में ट्रक घुसाने के बाद लोगों पर अंधाधुंध गोलियां बरसाईं. इसके बाद हर तरफ लाशें बिछ गईं.

फिलहाल किसी तरह के बंधक संकट की सूचना नहीं है. मामले की जांच का जिम्मा एंटी टेररिस्ट जांच (आतंकवाद निरोधी) अधिकारियों को दिया गया है.

तीन महीने बढ़ाया गया आपातकाल

एविनोन गए फ्रांस के राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद ने हमले की सूचना मिलने के बाद पेरिस लौटने का फैसला किया है. वो इस हमले को लेकर बैठक करने वाले हैं. रीजनल प्रेसिडेंस क्रिस्टियन एस्ट्रोजी ने बताया कि जिस ट्रक को भीड़ पर चढ़ाया गया, वो हथियारों और ग्रेनेड से भरा हुआ था.

पढ़ें: यूरोप में 7 बड़े आतंकी हमले

साथ ही देश में तीन महीने के लिए इमरजेंसी जारी रखने का भी एलान किया है. अमेरिका समेत तमाम देशों ने हमले की निंदा की है और जांच में सहयोग की पेशकश की है.

अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने नाइस में हुए इस आतंकी हमले की कड़ी निंदा की है. फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति निकोलस सरकोजी ने हमले पर गहरा दुख जताया है. उन्होंने ट्वीट कर हमले में लोगों के मारे जाने पर शोक व्यक्त किया है.

इस बीच फ्रांस की समाचार एजेंसी एएफपी के मुताबिक ट्रक के ड्राइवर ने मारे जाने से पहले पिस्टल से फायरिंग की.

First published: 16 July 2016, 10:22 IST
 
अगली कहानी