Home » इंटरनेशनल » Catch Hindi: Germany is marking memory of Jews killed in holocaust
 

जर्मनीः होलोकॉस्ट में मारे गए लोगों की याद में...

इंदु पाण्डेय | Updated on: 10 July 2016, 8:41 IST
(इंदु पाण्डेय)

जर्मनी में होलोकॉस्ट में मारे गए यहूदियों की याद में फुटपाथ पर विशेष स्मृतिचिह्न लगाये जा रहे हैं. पीतल के इन प्लेट पर लिखा है कि वो कब इस दुनिया से गए, वो यहां रहते थे और उनको किस कैंप में ले जाया गया था. इस तरह का अभियान पूरे जर्मनी में चलाया जा रहा है.

इन निशान को जर्मन भाषा में स्टॉलपेर स्टाइन कहते हैं. इसका अर्थ है, 'जिस जगह यहूदियों को ठोकर लगी और उसके बाद उनको मौत के आगोश में ले लिया गया.' 

इंदु पाण्डेय

इन प्लेटों पर होलोकॉस्ट में मारे गए लोगों के बारे में जानकारी भी अंकित करवाई जा रही है. इन प्लेटों को लगाने में जो खर्च आता है उसे आम लोगों के दान से जुटाया जाता है.

कई प्लेट उन जगहों पर लगाए गए हैं, जहां कभी यहूदियों के घर हुआ करते थे. यूरोप के कुछ दूसरे देशों में भी इस तरह के स्मृतिचिह्न लगाए जा रहे हैं.

इंदु पाण्डेय

इस काम में जर्मनी के स्कूली बच्चों और उनके टीचरों की मदद ली जाती है. जो दूसरे विश्व युद्ध में मारे गए लोगों को ढूंढते हैं.

इन पीतल की प्लेट्स  पर ज़्यादातर जर्मन भाषा में 'हियर वोनेन' लिखा होता है, जिसका मतलब होता है 'यहां वो रहते थे.' 

इस तरह का पहला निशान 1992 में कोलोन शहर में लगाया गया था.  अब इस अभियान में तेज़ी आई है .

इंदु पाण्डेय

फ़्रैंकफ़र्ट में रहने वाली यहूदी महिला डालिया का कहना है की ये काफी दर्द देता है इन निशान को देखकर पुरानी बातें याद आ जाती है.

हालांकि जर्मनी के कुछ शहरों जैसे म्यूनिख में आम लोग यहूदियों को इस तरह याद नहीं करना चाहते. इन लोगों का मानना है कि रास्ते में ऐसे निशान लगाना ठीक नहीं क्योंकि एक दिन वो भी मिट जायेगा.

First published: 10 July 2016, 8:41 IST
 
इंदु पाण्डेय @catchhindi

स्वतंत्र पत्रकार

अगली कहानी