Home » इंटरनेशनल » Greece ends EU aid dependency as bailout formally ends
 

अब अपने पैरों पर खड़ा होता दिख रहा आर्थिक संकट से जूझ रहा ग्रीस

कैच ब्यूरो | Updated on: 20 August 2018, 16:43 IST

ग्रीस को दिया गाय यूरोजोन बेलआउट पैकेज ख़त्म हो गया है आखिरी ऋण लगभग 4.9 लाख करोड़ रुपये का था. अब यूरोपीय संघ का पूरा बकाया 20.7 लाख करोड़ रुपये से अधिक है. यूरोपियन यूनियन पिछले 8 साल से ग्रीस को ये बेलआउट पैकेज दे रहा था. अब इसके बाद ग्रीस के आर्थिक संकट से उबरने की दिशा में यह राहतभरा कदम बताया जा रहा है.

ग्रीस के प्रधानमंत्री एलेक्सिस सिप्रास ने कहा कि ग्रीस ने दुनिया ढहने के बाद अपने पैरों पर खड़ा होना सिखाया है. इंडिपेंडेंट की रिपोर्ट के मुताबिक ग्रीस को इस संकट से उबरने के लिए दशकों का समय लग सकता है. ग्रीस को इस संकट से उबरने के लिए तकरीबन 289 अरब पाउंड का लोन अदा करना होगा. यूरोजोन के क्रेडिटर्स से ली गई यह रकम ग्रीस के सालाना आर्थिक उत्पादन से 180 फीसदी अधिक है. ग्रीस को यह लोन 2060 तक चुकाना होगा.

ये है ग्रीस के कंगाल होने की पूरी कहानी

ग्रीस पर यह आर्थिक संकट 1999 से शुरू हुआ जब विनाशकारी भूकंप से देश का ज्यादातर हिस्सा तबाह हो गया था. लगभग 50,000 इमारतों का पुनर्निर्माण करना पड़ा. यह सारा काम सरकारी धन खर्च करके किया गया.
हालांकि यूरो जोन से जुड़ना भी ग्रीस की भारी भूल मानी जाती है.

 

2004 के ओलिंपिक खेलों के लिए ग्रीस ने यूरो जोन से बड़ी मात्रा में कर्ज लिया था. इस दौरान ग्रीस का राजकोषीय घाटा बहुत ज्यादा बढ़ गया. तत्कालीन सरकार ने खातों में हेराफेरी करके आंकड़ों को बढ़ा-चढ़ाकर पेश किया. जब 2009 में सत्ता में आयी नई सरकार ने इसका खुलासा किया.

आंकड़ों में हेराफेरी की बात सामने आने के कारण ग्रीस पर भरोसे का संकट पैदा हो गया, इसके चलते इस संकटग्रस्त देश को कर्ज देने वाले देशों की संख्या काफी कम हो गई. निवेश में कमी आ गई. मई 2010 में यूरो जोन, यूरोपियन सेंट्रल बैंक (ईसीबी) और अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) ने ग्रीस को डिफॉल्ट से बचाने के लिए 10 अरब यूरो का राहत पैकेज दिया.

ये भी पढ़ें : मिलिए उन लोगों से जो चलाते हैं भारतीय रिजर्व बैंक, बोर्ड में शामिल हैं ये 21 लोग

First published: 20 August 2018, 16:43 IST
 
अगली कहानी