Home » इंटरनेशनल » He puts bounties on people's heads. And he is Philippines' new President
 

वह हत्या की बोली लगाता है, वह फिलीपींस का नया राष्ट्रपति है

अलीशा मथारू | Updated on: 10 February 2017, 1:49 IST

दुनिया तानाशाहों और कठोर शासकों से अपरिचित नहीं है. अतीत और वर्तमान में देखें तो ऐसे तमाम नाम जेहन में उभर जाते है. मजबूत इरादे वाले उन्मादी लोगों का शासन आज भी है. तुर्की, रूस, उत्तरी कोरिया, चीन और वेनेजुएला ऐसे ही कुछ देश हैं. और यह भी न भूलिए कि डोनाल्ड ट्रंप भी अमेरिकी राष्ट्रपति का चुनाव लड़ने की होड़ में आ चुके हैं.

लेकिन फिलीपींस के नये चुने गए राष्ट्रपति शायद इन सबको पीछे छोड़ने का माद्दा रखते हैं. रोड्रिगो दुतेर्ते सीमाओं में बंधने वाले व्यक्ति नहीं हैं. वह निगरानी पर आधारित न्याय के घोर समर्थक हैं. और 30 जून से वह पूरे छह साल के लिए फिलीपींस के राष्ट्रपति पद की शोभा बढ़ाने वाले हैं.

रोड्रिगो एकसाथ देश भर के असमाजिक तत्वों से निबटने की तैयारी के साथ आ रहे हैं, केवल बलात्कारियों और हत्यारों से ही नहीं. क्रूर अपराधी, पत्रकार, भ्रष्ट पुलिस, ड्रग तस्कर और इससे दीगर कोई भी अगर कानून को तोड़ने की कोशिश करेगा, तो फिलीपींस में उसका अंत तय है. यह अंत उसकी मौत भी हो सकता है.

जंगल का कानून

यह वाइल्ड वाइल्ड वेस्ट सरीखा है. लोगों के सिर पर इनाम घोषित हो चुके हैं. इसी महीने की शुरुआत में रोड्रिगो ने ड्रग तस्करों के सिर पर 30 लाख पेसो (65हजार डॉलर) का इनाम रखा था और अपने सबसे ताजा भाषण में उन्होंने इस इनाम को बढ़ा कर 50 लाख पेसो (1.08 लाख डॉलर) कर दिया है.

रोड्रिगो ने कहा, “मैं यह नहीं कह रहा कि आप उन्हें मार दें, लेकिन आदेश है ‘जिन्दा या मुर्दा’.” साथ ही वह यह भी कह रहे हैं कि जिन नागरिकों के पास बंदूकें हैं वे अपने आसपास के ऐसे ड्रग तस्करों को जान से मार दें जो गिरफ्तारी से बचने की कोशिश कर रहे हैं.

दुतेर्ते को उनके निगरानी पर आधारित न्याय के ब्रांड की वजह से टाइम पत्रिका ने ‘द पनिशर’ कहा है

पिछले दिनों टेलीविजन पर अपने भाषण में इस 71 वर्षीय शख्स ने देश में विस्तृत रूप से फैले ड्रग्स के अवैध कारोबार के खिलाफ कड़ी चेतावनी दी, जिसमें पुलिस भी संलिप्त है. उन्होंने कहा, “हमें कॉल करने में संकोच न करें, पुलिस को कॉल करें या अगर आपके पास बंदूक है, तो आप खुद उन्हें मार डालें, आपको मेरा समर्थन है.”

उन्होंने कहा, “ऐसे पुलिस वाले जिन पर मामले हैं, और जो वांछित हैं, अगर तुम लोग अभी भी इस काम में लिप्त हो, तो मैं तुम्हें मार डालूंगा. इसे मजाक में मत लेना. मैं तुम्हें हंसाने की कोशिश नहीं कर रहा. हरामजादों, मैं तुम्हें खत्म कर दूंगा.”

और अगर कोई ड्रग तस्कर गिरफ्तारी का विरोध करता है या पुलिस स्टेशन लाए जाने की खिलाफत करता है, बंदूक या चाकू से किसी नागरिक को डराने की कोशिश करता है, तो “आप उसे मार सकते हैं.” दुतेर्ते ने तालियों की गड़गड़ाहट के बीच कहा, “उसे मार दो और मैं तुम्हें मेडल दूंगा.”

‘द पनिशर’

उनकी होश उड़ा देने वाली बातें यहीं खत्म नहीं होतीं. दुतेर्ते, जिन्हें उनके निगरानी पर आधारित न्याय के ब्रांड की वजह से टाइम पत्रिका ने ‘द पनिशर’ कहा है, ने सौगंध ली है कि वह अपने अभियान के दौरान एक लाख अपराधियों को खत्म करेंगे और उन्हें मनीला की खाड़ी में फेंक देंगे. और उन्होंने अपने कार्यकाल के शुरुआती छह महीनों के भीतर ही ऐसा करने का वादा किया है.

ध्यान दें, हर हफ्ते पांच अपराधियों को खत्म करने की उनकी प्रतिज्ञा कोई हवाई वादा नहीं है. कहा जाता है कि जब वह दवाओ सिटी के मेयर थे तब उनके बनाये डेथ स्क्वॉड्स, जो न्याय के औपचारिक तरीकों को नहीं मानते थे, ने एक हजार से अधिक लोगों को मार दिया था. काफी उन्मादपूर्ण बात है, है ना? रिकॉर्ड बताते हैं कि रोड्रिगो दुतेर्ते अपराधियों की हत्या करते हैं.

हालांकि उन पर अब तक किसी भी हत्या का आरोप सिद्ध नहीं हुआ है. लेकिन जब उनसे इन अफवाहों के बारे में पूछा गया कि उन्होंने व्यक्तिगत रूप से 700 अपराधियों को प्राणदंड दिलाया है, तो उन्होंने जवाब दिया कि यह संख्या 1,700 के आसपास थी.

कोई मुकदमा नहीं. कोई मौका नहीं. अगर किसी ने कानून तोड़ा, तो कोई ध्यान भी नहीं देगा, चाहे वह गलियों में ही मारा जाये या फिर जब भीड़ उसको अपना निशाना बना ले. आखिर भीड़ ने कभी निर्दोष लोगों को मारा है भला?

खून से रंगे हैं हाथ

लोग अपराध और भ्रष्टाचार से तंग आ चुके हैं और दुतेर्ते के ये अनोखे वादे जनता की इस भावना को ही जाहिर करते हैं. और यही वजह है कि हर उन्मादपूर्ण घोषणा के बावजूद उनके प्रति समर्थन बढ़ता जा रहा है.

फिलीपींस पहले से ही पत्रकारों के लिए दुनिया की दूसरी सबसे खतरनाक जगह बन चुका है

तो क्या वो तानाशाह बन जायेंगे? हां, उन्होंने कहा, क्यों नहीं? दुतेर्ते ने कहा, “मैं कठोर रहूंगा. इसमें कोई शुबहा नहीं कि मैं तानाशाह रहूंगा, लेकिन केवल अपराध, ड्रग्स और सरकारी भ्रष्टाचार जैसी बुरी ताकतों के खिलाफ.” इससे पहले उन्होंने शपथ ली कि अगर वह भ्रष्टाचार को रोकने का वादा पूरा करने में नाकामयाब रहे, तो छह महीने में इस्तीफा दे देंगे.

कहा जा रहा है कि वह खुद को सुरक्षित रखने के लिए राष्ट्रपति की दंड से मुक्त रखेंगे. और साथ ही उन लोगों के लिए भी, जो समाज की साफ-सफाई या नरसंहार (आप जो भी शब्द इस्तेमाल करें) में उनकी मदद करेंगे.

पेश है एक असली बयान, जो फिलीपींस के नये राष्ट्रपति ने दवाओ सिटी में साल 1989 में हुए एक ईसाई मिशनरी के बलात्कार और उसकी हत्या के बारे में दिया था. राष्ट्रपति पद के लिए चुने जाने से पहले उन्होंने काफी साल तक दवाओ सिटी के मेयर के तौर पर काम किया था.

उन्होंने कहा था, “मैं गुस्सा था कि उसका बलात्कार किया गया था, हां, यह एक वजह थी. लेकिन वह बहुत खूबसूरत थी, मेयर को पहले मौका मिलना चाहिए था. ये तो खूबसूरती की बर्बादी है.”

अगर इतना सब भी आपको सोचने के लिए मजबूर नहीं करता तो यह पढ़िए चुनाव से पहले अपने आखिरी भाषण में उन्होंने क्या कहा, “मानवाधिकार कानूनों को भूल जाइए.”

पत्रकार भी हैं निशाने पर

दुतेर्ते ने एक भाषण में कहा, “केवल इसलिए कि आप पत्रकार हैं, आप हत्या से बच नहीं सकते, अगर आप हरामजादे हैं.” ध्यान रहे फिलीपींस पहले से ही पत्रकारों के लिए दुनिया की दूसरी सबसे खतरनाक जगह बन चुका है.

First published: 10 June 2016, 11:20 IST
 
अलीशा मथारू @almatharu

सब-एडिटर, कैच न्यूज़.

पिछली कहानी
अगली कहानी