Home » इंटरनेशनल » Hillary-Trump clash over plans for US economy during 90-minute debate
 

जानिए 90 मिनट की पहली लाइव टीवी डिबेट में हिलेरी और ट्रंप की बहस का सारांश

कैच ब्यूरो | Updated on: 27 September 2016, 12:04 IST
(फाइल फोटो )

अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव के लिए डेमोक्रेटिक उम्मीदवार हिलेरी क्लिंटन और रिपब्लिकन उम्मीदवार डोनाल्ड ट्रंप के बीच सोमवार रात को पहली राष्ट्रपति डिबेट हुई. भारतीय समयानुसार सुबह लगभग 6.30 बजे शुरू हुई इस लाइव डिबेट के दौरान दोनों प्रतिद्वंद्वियों के बीच काफी तीखी नोंक-झोंक हुई. 

न्यूयॉर्क में हेम्पस्टीड स्थित होफस्ट्रा यूनिवर्सिटी में आयोजित की गई यह डिबेट तकरीबन डेढ़ घंटे तक चली. हिलेरी ने डिबेट का टॉस जीता.

देश में नौकरियों की कमी

प्रेसीडेंशियल डिबेट की शुरुआत में अर्थव्यवस्था और नई नौकरियां पैदा करने को लेकर एक दूसरे से तीखी तकरार हुई. हिलेरी ने ट्रम्प की खिंचाई करते हुए कहा कि ट्रम्प इकोनॉमी के बारे में कुछ नहीं जानते हैं. हम एक ऐसी इकोनॉमी बनाना चाहते हैं, जो सबके लिए काम करे सिर्फ टॉप पर बैठे लोगों के लिए नहीं.

इसके जवाब में ट्रंप ने कहा, "देश से नौकरियां जा रही है. ये नौकरियां मेक्सिको जा रही है. वे कई अन्य देशों में जा रही हैं. आप देखिए कि चीन हमारे उत्पाद बनाने के संदर्भ में हमारे देश के साथ क्या कर रहा है." ट्रम्प ने कहा कि हमें अपने यहां से जॉब्स को बाहर जाने से रोकना होगा. हमें अमेरिका से कंपनियों को भी जाने रोकना है.

ट्रंप अपने टैक्स रिटर्न का खुलासा करें

90 मिनट की इस बहस में दोनों ने एक-दूसरे पर व्यक्तिगत हमले किए. हिलेरी ने कहा कि ट्रंप ने अभी तक अपने टैक्स रिटर्न्स का खुलासा नहीं किया है. वहीं ट्रंप ने क्लिंटन के ई-मेल विवाद को उठाया. 

क्लिंटन ने माना कि उनसे ईमेल डिलीट होने के मामले में ग़लती हुई थी और वो दोबारा ऐसा नहीं करेंगी. हिलेरी ने कहा कि वे प्राइवेट सर्वर को विदेश विभाग के ईमेल भेजने में इस्तेमाल करने को लेकर जानती हैं.

इसके जवाब में ट्रम्प ने कहा कि जब हिलेरी अपने फ़ोन से डिलीट किए गए 33 हजार ईमेल सार्वजनिक कर देंगी तो वो भी अपने टैक्स रिटर्न का खुलासा कर देंगे.

हमारे एयरपोर्ट तीसरी दुनिया के गरीब देशों जैसे

इसके बाद ट्रंप ने कहा कि हिलेरी भी दूसरे राजनेताओं की तरह ही हैं, जो बातें तो बड़ी-बड़ी करते हैं लेकिन असल में कोई एक्शन नहीं लेते. साथ ही डोनाल्ड ने यह भी कहा, "अब समय आ गया है जब देश की बागडोर किसी ऐसे व्यक्ति को मिले जिसे पैसे की समझ हो. हमारे देश में बहुत समस्याएं हैं, हमारे एयरपोर्ट तीसरी दुनिया के गरीब देशों जैसे लगते हैं."

एनबीसी न्यूज के लेस्टर होल्ट ने होस्फट्रा विश्वविद्यालय में इस 90 मिनट की बहस की मेजबानी की. इस बहस को करीब 10 करोड़ अमेरिकी लोगों समेत पूरी दुनिया ने टीवी पर लाइव देखा. इससे पहले 1980 में जिमी कार्टर और रोनाल्ड रीगन के बीच बहस को करीब 8 करोड़ लोगों ने देखा था.

अमेरिकी राष्ट्रपति पद के उम्मीदवारों के बीच सबसे पहले टीवी डिबेट 1960 में 26 सितंबर को जॉन एफ़ कैनेडी और हेनरी किसिंजर के बीच हुई थी.

First published: 27 September 2016, 12:04 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी