Home » इंटरनेशनल » Bangladesh: Hindu monastery worker hacked to death
 

बांग्लादेश: एक और अल्पसंख्यक की हत्या, तीन दिन में दूसरी वारदात

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 June 2016, 17:59 IST
(एएफपी)

बांग्लादेश में कुछ हमलावरों ने शुक्रवार को सुबह की सैर पर निकले एक हिंदू आश्रम के कर्मचारी की हत्या कर दी है. ये घटना पभना शहर के हेमायतपुर की है. इस घटना से कुछ ही दिन पहले बांग्लादेश में संदिग्ध आईएस आतंकियों ने एक अन्य पुजारी की हत्या भी कर दी थी.

इस मामले में जानकारी देते हुए बांग्लादेश के एएसपी सलीम खान ने बताया कि हिमायतपुरधाम आश्रम के 60 साल के नित्यारंजन पांडे पर कई लोगों ने मिलकर हमला किया और उनकी गर्दन पर वार भी किए.

एक स्थानीय समाचार चैनल बीडीन्यूज के मुताबिक आश्रम में पांडे पिछले 40 साल से स्वयंसेवक के तौर पर काम करते थे और जब वह नियमित सैर के लिए निकले थे उसी दौरान उन पर हमला किया गया.

तीन दिन में दूसरी हत्या

अब तक किसी संगठन ने इस हत्या की जिम्मेदारी नहीं ली है. पिछले तीन दिनों में इस तरह की हत्या की यह दूसरी वारदात है, सात जून को संदिग्ध इस्लामिक स्टेट के जिहादियों ने एक पुजारी का सिर काट कर उसकी हत्या कर दी थी. 

गौरतलब है कि हाल के महीनों में बांग्लादेश में अल्पसंख्यकों, धर्मनिरपेक्ष ब्लॉगरों, बुद्धिजीवियों और विदेशियों पर हमले बढ़े हैं.

इससे पहले एक शीर्ष आतंकवाद निरोधी पुलिस अधिकारी की पत्नी की गोली मारकर हत्या कर दी थी, जिसके कुछ ही घंटों बाद एक चर्च के पास हथियार से लैस अज्ञात हमलावर ने एक ईसाई कारोबारी की हत्या कर दी थी.

फरवरी में आतंकवादियों ने बांग्लादेश में स्थित एक मंदिर के अन्य हिंदू पुजारी की चाकू मारकर हत्या कर दी थी और उसकी मदद के लिए आए एक श्रद्धालु को घायल कर दिया था.

आईएस की मौजूदगी से इनकार

अप्रैल में हथियार से लैस आईएसआईएस के संदिग्ध आतंकवादियों ने एक उदारवादी प्रोफेसर की राजशाही शहर स्थित उनके घर पर गला रेतकर हत्या कर दी थी. उसी महीने में एक हिंदू दर्जी की उसकी दुकान पर हत्या कर दी गई.

इसके अलावा चरमपंथियों ने बांग्लादेश की पहली समलैंगिक पत्रिका के संपादक के ढाका स्थित फ्लैट पर उनकी और उनके मित्र की निर्मम हत्या कर दी थी.

भारतीय प्रायद्वीप में आईएसआईएस और अलकायदा ने कुछ हमलों की जिम्मेदारी ली है. हालांकि बांग्लादेश सरकार ने देश में उनकी मौजूदगी से इनकार किया है.

First published: 10 June 2016, 17:59 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी