Home » इंटरनेशनल » In Canada: Sikh community angry for defence minister Harjit sajjan cartoon
 

कनाडा में रक्षा मंत्री हरजीत सज्जन के कार्टून को लेकर सिख समुदाय में गुस्सा

कैच ब्यूरो | Updated on: 6 May 2017, 16:01 IST
Harjit sajjan

कनाडा में भारतीय मूल के रक्षा मंत्री हरजीत सिंह सज्जन का कार्टून प्रकाशित होने के बाद सिख समुदाय के लोगों में काफी गुस्सा है.

कार्टून पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए सिख समुदाय के लोगों का कहना है कि यह कार्टून उन ऐतिहासिक सिख धार्मिक व्यक्तित्वों की छवि को फिर से दर्शाने जैसा है जिनको यातनाएं दी गई थीं.

46 साल के सज्जन हाल ही में अपनी भारत यात्रा के दौरान ‘आपरेशन मिड्यूसा’ में अपनी भूमिका को बढ़ाचढ़ाकर पेश करने के लिए आलोचना से घिर गए थे और इसके लिए उन्होंने माफी भी मांगी थी.

‘एडमोंटन सन’ और ‘पोस्टमीडिया’ के कई दूसरे प्रकाशनों में विवादित कार्टून प्रकाशित हुआ जिसमें उनको एक कड़ाही में उबलते हुए दिखाया गया है. उसके बाद ‘पोस्टमीडिया’ ने इस राजनीतिक कार्टून के लिए माफी मांगी है. इस कार्टून को लेकर सिख समुदाय के बीच आक्रोश देखा जा रहा है.

आलोचकों का कहना है कि यह कार्टून उन ऐतिहासिक सिख धार्मिक व्यक्तित्वों की छवि को फिर से दर्शाने जैसा है जिनको यातनाएं दी गई थीं.

गुरूद्वारा श्री गुरू सिंह साहब की कार्यकारी समिति में शामिल हरप्रीत सिंह गिल ने कहा कि यह कार्टून सिखों के पांचवें गुरु अर्जुन देव की छवि को दर्शाता है, जिनको गरम बर्तन पर बैठने को मजबूर किया गया था.

इससे पहले सज्जन को पद से इस्तीफा देने या बर्खास्त करने की मांग की जा रही थी. विपक्ष का आरोप है कि हरजीत ने भारत में दिए एक वक्तव्य में अपने अफगानिस्तान मिलिट्री रिकॉर्ड को बढ़ा-चढ़ाकर पेश किया. हालांकि प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो अपने मंत्री के साथ खड़े नजर आए और इस मांग खारिज कर दिया.

गौरतलब है कि हरजीत सज्जन सेना के पूर्व खुफिया अधिकारी हैं. पिछले महीने भारत यात्रा के दौरान उन्होंने कहा था कि वह 1950 के बाद कनाडा के सबसे बड़े मिलिट्री ऑपरेशन ‘मिड्यूसा’ के आर्किटेक्ट (निर्माता) हैं.

इस ऑपरेशन के तहत 2006 में अफगानिस्तान के कंधार प्रांत में तालिबान की पकड़ कमजोर हो रही थी, लेकिन इसके बदले एक दर्जन कनेडियन और 14 ब्रिटिश सैनिक मारे गए थे. हरजीत पर आरोप है कि उन्होंने इस ऑपरेशन में अपनी भूमिका को तथ्यों से अलग बढ़ा-चढ़ाकर दिखाया.

First published: 6 May 2017, 16:01 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी