Home » इंटरनेशनल » in pakistan: muslim priest say in fatwa transgender marriage are legal
 

पाक मौलवियों का फतवा: किन्नरों का निकाह जायज

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 February 2017, 1:49 IST
(एजेंसी)

पाकिस्तान में मौलवियों ने फतवा जारी कर कहा है कि किन्नरों का निकाह (शादी) कानूनी तौर पर जायज है. ‘तंजीम इत्तेहाद-ए-उम्मत’ से जुड़े लगभग 50 मौलवियों ने रविवार को इस मामले में फतवा जारी किया.

पाकिस्तानी समाचार चैनल ‘द डॉन न्यूज’ के मुताबिक फतवे में कहा गया है कि ‘पुरुष होने की निशानी रखने वाले’ ट्रांसजेंडर व्यक्ति ‘महिला होने की निशानी रखने वाले’ ट्रांसजेंडर से निकाह कर सकते हैं और इसी तरह ‘महिला होने की निशानी रखने वाली’ ट्रांसजेंडर ‘पुरुष होने की निशानी रखने वाले’ ट्रांसजेंडर व्यक्ति से निकाह कर सकती हैं.

हालांकि इस फतवे में यह भी कहा गया है कि ‘दोनों लिंग की निशानी रखने वाले’ ट्रांसजेंडर को किसी तरह के निकाह की आजादी नहीं है.

इन धर्मगुरुओं ने किन्नरों को उनकी पैतृक संपत्ति में हिस्सेदारी से दूर रखने को भी गैरकानूनी करार दिया और कहा कि जो मां-बाप अपने ट्रांसजेंडर बच्चों को संपत्ति से महरूम करते हैं, वे ‘खुदा के खौफ’ को दावत दे रहे हैं.

इस मामले में मौलवियों ने सरकार से आह्वान किया कि ऐसे मां-बाप के खिलाफ कार्रवाई की जाए. इस फतवे में ट्रांसजेंडर लोगों को सामाजिक स्तर पर सम्मान दिए जाने की भी जोरदार वकालत की गई है.

फतवे में कहा गया है कि ट्रांसजेंडर लोगों को ‘अपमानित करना और उनका मजाक बनाना’ बहुत बड़ा गुनाह है.

मुस्लिम धर्मगुरुओं ने कहा कि ट्रांसजेंडर लोगों की मौत होने पर उनकी अंत्येष्टि से जुड़ी उन सारी रस्मों की अदायगी होगी, जो दूसरे मुस्लिम पुरुष या महिला की मौत पर होती हैं.

First published: 27 June 2016, 4:59 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी