Home » इंटरनेशनल » In Panama Paper case: Agency question to PM Nawaz sharif's son Hussain
 

पनामा पेपर केस: नवाज़ शरीफ़ के बेेटे हुसैन से हुई पूछताछ

कैच ब्यूरो | Updated on: 29 May 2017, 13:43 IST
Nawaz Sharif

पनामा पेपर मामले में फंसे पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ पर शिकंजा कसता जा रहा है. इसी मामले में उनके बेटे हुसैन से सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर बनी जेआईटी (संयुक्त जांच टीम) ने पूछताछ की है.

बताया जा रहा  है कि कोर्ट के आदेश पर जेआईटी शरीफ परिवार के विदेशों में फैले कारोबार की जांच कर रही है. JIT की पूछताछ के दौरान हुसैन के साथ उनके वकील मौजूद थे, लेकिन जेआईटी ने वकील की मौजूदगी पर आपत्ति जताई और कहा कि कोर्ट से मंजूरी लेने के बाद हुसैन वकील से मदद ले सकते हैं.

अधिकारियों ने कहा कि हुसैन बाद में अकेले जेआईटी के सामने पेश हुए और उनसे पूछताछ करीब दो घंटे चली. हुसैन समन जारी किए जाने के बाद इस्लामाबाद के जेआईटी दफ्तर पहुंचे.

इससे पहले शरीफ के बेटे हुसैन ने जेआईटी के दो सदस्यों पर पक्षपातपूर्ण रवैये का आरोप लगाते हुए सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की थी.

खबरों के मुताबिक जेआईटी के एक सदस्य को पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपित जनरल परवेज मुशर्रफ का करीबी दोस्त माना जा रहा है, जबकि दूसरे सदस्य को पंजाब के पूर्व गवर्नर मियान अजहर का रिश्तेदार बताया जा रहा है.

क्या है पनामा पेपर्स लीक मामला

अप्रैल 2016 में पनामा पेपर लीक्स के जरिए विदेशों में काला धन रखने वालों की सूची सार्वजनिक हुई थी. इसमें नवाज शरीफ और उनके करीबियों पर भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप लगे थे.

लीक हुए दस्तावेजों में बताया गया था कि नवाज की उत्तराधिकारी मरियम नवाज सहित उनके बच्चों ने विदेशों में लाखों डॉलर की संपत्ति अर्जित की है. विपक्षी पार्टियों की अपील के बाद मामला कोर्ट में पहुंचा था और पाकिस्तान सुप्रीम कोर्ट ने मरियम के वित्तीय स्रोत पर सवाल उठाया था.

First published: 29 May 2017, 13:43 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी