Home » इंटरनेशनल » In pok, public told terror hell our life
 

पाक अधिकृत कश्मीर में जनता ने कहा, आतंक ने हमारी जिंदगी को नर्क बना दिया है

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 February 2017, 5:48 IST
(एएनआई)

भारत-पाक सीमा रेखा के पार पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (पीओके) में चल रहे आतंकी कैंपों के खिलाफ स्थानीय लोगों का गुस्सा फूट पड़ा.

आतंकी कैंपों के खिलाफ प्रदर्शन में स्थानीय नेताओं और लोगों का कहना था कि इन आतंकी कैंपों की वजह से उनकी जिंदगी 'नर्क' हो गई है.

प्रदर्शन को दौरान लोगों ने नवाज सरकार के खिलाफ जमकर नारे लगाए. प्रदर्शनकारी 'दहशतगर्दी बंद करो', 'बच्चों को लश्कर की गलत तालीम देना बंद करो' जैसे नारे लगा रहे थे.

बताया जा रहा है कि पीओके में मुजफ्फराबाद, कोटली, चिनारी, मीरपुर, गिलगित, दियमेर और नीलम घाटी के निवासियों का कहना है कि इन क्षेत्रों में चलने वाले आतंकी कैंपों के कारण उनकी जिंदगी पूरी तरह से बर्बाद हो गई है.

पीओके में यह विरोध प्रदर्शन ऐसे समय देखने को मिल रहा है, जब पाकिस्तान ने एलओसी के पार इस इलाके में आतंकी कैंपों पर भारतीय सेना के सर्जिकल स्ट्राइक के दावों को खारिज किया है.

प्रदर्शनकारियों ने पाकिस्तान सरकार और सुरक्षा बलों से इन आतंकी शिविरों को नष्ट करने के लिए कदम उठाने की मांग की.

इस मामले में एक प्रदर्शनकारी ने कहा, "आतंकियों को शरण देने से किसी समस्या का समाधान नहीं होने वाला."

वहीं एक अन्य प्रदर्शनकारी ने कहा, "अगर दियामेर, गिलगित, बसीन में इन आतंकी कैंपों को खत्म नहीं किया गया, तो जनता कानून अपने हाथ में लेने को मजबूर हो जाएंगी."

First published: 6 October 2016, 12:49 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी