Home » इंटरनेशनल » In South Koria: court punnished gay soulders
 

दक्षिण कोरिया: कोर्ट ने सुनाई समलैंगिक सैनिक को सज़ा

कैच ब्यूरो | Updated on: 24 May 2017, 15:09 IST
jail

दक्षिण कोरिया की सैन्य अदालत ने सेना के एक कैप्टन को अपने साथी पुरुष सैनिक के साथ शारीरिक संबंध बनाने के अपराध में सजा सुनाई है. मानवाधिकार समूहों ने इस फैसले पर कहा कि यह फैसला देश में पहले से ही प्रताड़ित यौन अल्पसंख्यकों को और भी भयभीत करेगा.

कैप्टन के वकील ने बुधवार को कहा कि यह अभी अस्पष्ट है कि उनका मुवक्किल छह महीने की सजा के खिलाफ अपील करेगा या नहीं. सजा को एक साल तक के लिए निलंबित रखा गया है. दक्षिण कोरिया की सैन्य दंड संहिता के अनुसार समलैंगिक गतिविधि दंडनीय है और इसमें दो साल तक की सजा हो सकती है.

वहीं दूसरी ओर ताइवान आज समलैंगिक विवाह कानून को मान्यता देने वाला एशिया का पहला देश बन सकता है. यहां की एक अदालत समलैंगिक संगठनों की याचिका पर फैसला सुनायेगी, कि समान लिंग वाले युगलों को विवाह की अनुमति दी जानी चाहिए या नहीं.

समलैंगिक कार्यकर्ताओं को उम्मीद है कि निर्णय उनके पक्ष में आयेगा. ताइवान में समान विवाह अधिकार की मांग को लेकर दबाव बढ़ रहा है, लेकिन रुढ़िवादी समूह इसके विरोध में हैं. उन्होंने कानून में परिवर्तन के खिलाफ जन रैलियां की हैं. उनका मानना है कि इस बहस ने समाज को बांट दिया है.

समलैंगिक विवाह के समर्थकों और विरोधियों के मध्य ताइपे में जुटने की संभावना है. इस मुद्दे पर न्यायपालिका का फैसला स्थानीय समयानुसार चार बजे आॅनलाइन पोस्ट किया जायेगा.

इस मामले में 14 वरिष्ठ न्यायाधीशों का एक पैनल फैसला सुनायेगा कि ताइवान का मौजूदा कानून संवैधानिक है या नहीं. ताइवान में समलैंगिक अधिकारों के लिए अभियान छेड़ने वाले अगुआ ची चीआ-वी ही इस मामले को संवैधानिक न्यायालय में लाए. इस मुद्दे पर तीस वर्षों से सक्रिय ची (59) ने एएफपी से कहा कि वे सौ फीसदी आश्वस्त हैं कि फैसला उनके पक्ष में आयेगा.

First published: 24 May 2017, 15:09 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी