Home » इंटरनेशनल » India: israeli president reuven rivlin to visit in 15th november
 

20 साल बाद किसी इजरायली राष्ट्रपति का भारत दौरा, 15 नवंबर से शुरुआत

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 February 2017, 5:46 IST
(एजेंसी)

इजरायल के राष्ट्रपति रियूवेन रिवलीन एक उच्च स्तरीय प्रतिनिधिमंडल के साथ इस महीने के मध्य में छह दिवसीय यात्रा पर भारत आ रहे हैं.

इजरायली राष्ट्रपति की यह यात्रा 15 नवंबर से शुरू हो रही है. उनकी इस यात्रा का उद्देश्य सुरक्षा, शिक्षा, साइबर, ऊर्जा, जल एवं कृषि क्षेत्र में सहयोग को बढ़ावा देना है.

येरुशलम से मिली जानकारी के मुताबिक रिवलीन अपनी भारत यात्रा के दौरान राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन समेत कई अन्य लोगों से मुलाकात करेंगे.

राष्ट्रपति रियूवेन रिवलीन आएंगे भारत

रिवलीन भारत और इजरायल के बीच साल 1992 में कूटनीतिक संबंध स्थापित होने के बाद से अब तक भारत आने वाले दूसरे इजरायली राष्ट्रपति होंगे. उनकी इस यात्रा से 20 साल पहले इजरायल के पूर्व राष्ट्रपति एजर वीजमान साल 1996-97 में भारत आए थे.

रिवलीन 15 नवंबर से 20 नवंबर तक चलने वाली अपनी छह दिवसीय भारत यात्रा के दौरान कारोबारी नेताओं और शिक्षाविदों के एक उच्च स्तरीय प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व करेंगे. जबिक शीर्ष नेताओं के साथ उनकी वार्ताएं 15 नवंबर को ही होगी.

पिछले साल राष्ट्रपति मुखर्जी की ऐतिहासिक इजरायल यात्रा के बाद भारत जाने की रुचि जाहिर करते हुए रिवलीन ने पहले कहा था, "दोनों देशों के बीच का सहयोग सर्वविदित है."

छह दिनों की भारत यात्रा

इजरायल के 77 वर्षीय राष्ट्रपति ने कहा, "यह सहयोग सिर्फ नवोन्मेष में नहीं है लेकिन आप अच्छी तरह जानते हैं कि हम कृषि, जल, ऊर्जा, साइबर की समस्याओं से निपटने और सुरक्षा से जुड़ी हर जरूरत को पूरा करने के लिए अपनी ओर से पूरी कोशिश कर रहे हैं, ताकि दोनों देशों की जनता पर सुरक्षा का जो बोझ पड़ रहा है, उसके लिए तैयार हुआ जा सके."

उन्होंने कहा था, "मैं आपके प्रधानमंत्री को यहां देखना चाहूंगा." ऐसे कयास लगाए जा रहे हैं कि इजरायली राष्ट्रपति की यात्रा मोदी की येरूशलम यात्रा का मार्ग प्रशस्त करेगी. 

अगले साल मोदी की इजरायल यात्रा मुमकिन

अगर ऐसा होता है तो यह किसी भारतीय प्रधानमंत्री द्वारा की जाने वाली पहली इजरायल यात्रा होगी. यह यात्रा अगले साल होनी संभावित है. अगले साल दोनों देश कूटनीतिक संबंधों की स्थापना की रजत जयंती मनाने वाले हैं.

इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने रविवार को मंत्रिमंडल की एक बैठक में रिवलिन की आगामी भारत यात्रा का जिक्र किया. बेंजामिन खुद भी अगले साल भारत आ सकते हैं.

इजरायल दोनों देशों के शैक्षणिक संस्थानों के बीच संबंधों को मजबूत करने के लिए बेहद उत्सुक है. इजरायली राष्ट्रपति इससे पहले इजरायल में रहने वाले भारतीय छात्रों की तारीफ करते हुए कह चुके हैं, "वे सर्वश्रेष्ठ हैं."

इजरायल कई साल से भारत को रक्षा उपकरणों की आपूर्ति करने वाला दूसरा सबसे बड़ा आपूर्तिकर्ता बना हुआ है. करगिल युद्ध के दौरान उसकी ओर से समय पर की गई आपूर्ति के चलते उसे एक ‘विश्वसनीय’ सहयोगी का तमगा मिला है.

भारत और इजरायल के द्विपक्षीय व्यापार में भी एक भारी वृद्धि देखने को मिली है. यह साल 1992 के 20 करोड़ डॉलर से अब पांच अरब डॉलर तक पहुंच चुकी है.

First published: 3 November 2016, 12:43 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी