Home » इंटरनेशनल » India objects to Pakistan-China proposed bus service via PoK, says it ‘violates territorial integrit
 

पाकिस्तान और चीन के बीच शुरू होने जा रही है बस सर्विस, भारत ने किया विरोध

कैच ब्यूरो | Updated on: 1 November 2018, 12:12 IST

भारत ने बुधवार को कहा कि पाकिस्तान और चीन के बीच प्रस्तावित एक बस सर्विस पर आपत्ति जताई है क्योंकि यह सर्विस पकिस्तान अधिकृत कश्मीर (इकोनॉमिक कॉरिडोर (सीपीईसी) से गुजरने जा रही है. विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा कि चीन और पकिस्तान के बीच शुरू होने वाली बस सेवा भारत की संप्रभुता (सॉवेरीनटी) और क्षेत्रीय अखंडता का उल्लंघन है.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक यह बस सर्विस लाहौर से चीन के काशगर तक 13 नवंबर से शुरू की जा रही है. इस नई बस सर्विस को पाकिस्तान और चीन के बीच संबंधों को बढ़ाने के एक उदाहरण के रूप में देखा जा रहा है.

 

कुमार ने कहा यह "1963 का तथाकथित चीन-पाकिस्तान सीमा समझौता अवैध और अमान्य है और भारत सरकार ने इसे कभी मान्यता नहीं दी. अगर पाकिस्तान के कब्जे वाले जम्मू-कश्मीर से कोई बस सेवा शुरू होगी तो यह भारत की संप्रभुता का उल्लंघन होगा.''

50 अरब डॉलर के (CPEC) चीन पाकिस्तान इकोनॉमिक कॉरिडोर के तहत 2015 में सड़कों, रेलवे और ऊर्जा परियोजनाओं सहित ग्वादर बंदरगाह का निर्माण शुरू किया गया था.

 

First published: 1 November 2018, 10:21 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी