Home » इंटरनेशनल » India’s ASAT satellite test created 400 pieces of debris, NASA says; calls it ‘terrible thing’
 

भारतीय एंटी सैटेलाइट परीक्षण पर NASA ने जताई चिंता, कहा- अंतरिक्ष में इकट्ठे हुए मलबे के 400 टुकड़े

कैच ब्यूरो | Updated on: 2 April 2019, 9:10 IST

अमेरिकी स्पेस एजेंसी नासा ने भारत द्वारा किए गए एंटी सैटेलाइट मिसाइल परीक्षण को लेकर मंगलवार को गहरी चिंता जताई है. नासा के अनुसार, एंटी सैटेलाइट मिसाइल परीक्षण से अतंरिक्ष में करीब 400 टुकड़े मलबे के इकट्ठे हो गए हैं, जिसके कारण अंतरराष्ट्रीय स्पेस स्टेशन के लिए जाने वाले एस्ट्रोनॉट्स को मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है. दिक्कत का सामना करना पड़ सकता है.

नासा के प्रमुख जिम ब्रिडेनस्टाइन ने ये बात कही. उन्होंने सोमवार को नासा कर्मचारियों को संबोधित किया. जिसमें उन्होंने भारत द्वारा पांच दिन पहले किए गए एंटी सैटेलाइट टेस्ट का जिक्र किया. जिम ब्रिडेनस्टाइन ने कहा कि अंतरिक्ष में इतने सारे मलबे इकट्ठे हुए हैं, जिसे आसानी से ट्रैक किया जा सकता है.

उन्होंने कहा, "हमारी उस पर नजर है और हम बड़े टुकड़ों को ट्रैक कर रहे हैं. हम लोग 10 सेंटीमीटर (6 इंच) से बड़े टुकड़ों की बात कर रहे हैं. ऐसे अब तक 60 टुकड़े मिले हैं." उन्होंने कहा कि मलबे के करीब 24 टुकड़े इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन के ऊपर चले गए हैं.

जिम ब्रिडेन्सटाइन ने कहा, "यह भयानक, बेहद भयानक है. इसकी वजह से मलबा अंतरराष्ट्रीय स्पेस स्टेशन से भी ऊपर जा रहा है. इस तरह के कदम से भविष्य में मानव को अंतरिक्ष में भेजना मुश्किल हो जाएगा." उन्होंने आगे कहा कि ऐसे टेस्ट उन्हें स्वीकार नहीं हैं.

नासा प्रमुख जिम ने कहा, "अमेरिकी सेना इस तरह के मलबे को अंतरिक्ष में ट्रैक करती रहती है ताकि अंतरिक्ष स्पेस स्टेशन में उनके टकराने की संभावना का पता लग सके. सेना इस वक्त 10 सेंटीमीटर से बड़े करीब 23 हज़ार ऑब्जेक्ट को ट्रैक कर रही है, जिनमें से 10 हज़ार टुकड़े स्पेस मलबे का पार्ट हैं. इन 10 हज़ार टुकड़ों में से तीन हज़ार टुकड़े चीन द्वारा 2007 में किए गए एंटी-सैटेलाइट टेस्ट की वजह से बने थे. अब भारत द्वारा किए गए टेस्ट की वजह से पिछले दस दिनों में ही आईएसएस के साथ टकराने की संभावनाएं 44 फीसदी बढ़ गई हैं."

UBER कैब की जगह गलती से लग्जरी कार में बैठी छात्रा, फिर हुआ ये खौफनाक हादसा

First published: 2 April 2019, 9:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी