Home » इंटरनेशनल » Indian american raja krishnamoorthi kamala and harris wins us senate seat
 

भारतवंशी राजा कृष्णमूर्ति और कमला हैरिस ने अमेरिकी चुनाव में रचा इतिहास

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 February 2017, 5:45 IST

कैलिफोर्निया की अटॉर्नी जनरल कमला हैरिस ने राज्य से अमेरिकी सीनेट सीट जीतकर इतिहास रच दिया है. यह सफलता हासिल करने वाली वह पहली भारतीय-अमेरिकी हैं.

डेमोक्रेट लॉरेटा सानचेज को हराने वाली 51 वर्षीय हैरिस अमेरिकी सीनेट में चुनी जाने वाली छठी अश्वेत हैं, पांचवे अश्वेत अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा थे. बीते दो दशकों से भी ज्यादा समय में उच्च सदन में पहुंचने वाली वे पहली अश्वेत महिला हैं.

वह बारबरा बॉक्सर की जगह लेंगी, जिन्होंने दो दशकों तक सीनेट में रहने के बाद 2014 में सेवानिवृत्ति ले ली थी. दो बार अटॉर्नी जनरल रह चुकी हैरिस ने अपनी ही पार्टी की लोरेटा सांशेज को 34.8 प्रतिशत के अंतर से हराया. उन्‍होंने लोरेटा के मुकाबले 1,904,714 वोट ज्‍यादा हासिल किए. 

कैलीफोर्निया के ऑकलैंड में जन्‍मीं कमला हैरिस की मां भारतीय मूल की हैं. वह चेन्‍नई से अमेरिका में जा बसी थीं और जमैकाई मूल के अमेरिकी शख्‍स से शादी की. कमला का जन्म कैलिफोर्निया के ऑकलैंड में हुआ था. 

कमला हैरिस के अलावा भारतीय मूल के अमेरिकी नागरिक राजा कृष्णमूर्ति भी इलिनोइस से अमेरिकी प्रतिनिधि सभा (हाउस ऑफ रिप्रजेंटेटिव्स) के लिए चुने गए. भारतीय-अमेरिकी डेमोक्रेट राजा कृष्णमूर्ति ने एल्महर्स्ट से पूर्व मेयर एवं रिपब्लिकन पार्टी के पीटर डिसियान्नी को मात देकर इलिनोइस से अमेरिकी कांग्रेस का चुनाव जीता.

कृष्णमूर्ति को उनके प्रतिद्वंद्वी के खिलाफ 54,149 की तुलना में 81,263 मत मिले. अपने दूसरे प्रयास में सफल कृष्णमूर्ति भारत में जन्मे ऐसे दूसरे कांग्रेस सदस्य हैं. उनसे पहले 1950 में दलीप सिंह सौंध कांग्रेस के लिए चुने गए थे. 

इससे पहले अमेरिकी प्रतिनिधि सभा के लिए चुने गए दोनों भारतीय अमेरिकी बॉबी जिंदल और डॉक्टर अमी बेरा का जन्म अमेरिका में हुआ था.

First published: 9 November 2016, 2:56 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी