Home » इंटरनेशनल » Indian Army officer appointed the commander of UN Mission in South Sudan
 

इंडियन आर्मी के अफसर को मिली सूडान में संयुक्त राष्ट्र मिशन की कमान

कैच ब्यूरो | Updated on: 25 May 2019, 16:22 IST

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ने भारतीय सेना के अधिकारी लेफ्टिनेंट जनरल शैलेश तिनईकर को दक्षिण सूडान (UNMISS) में संयुक्त राष्ट्र मिशन का नया फोर्स कमांडर नियुक्त किया है. संयुक्त राष्ट्र प्रमुख ने शुक्रवार को घोषणा की कि 57 वर्षीय लेफ्टिनेंट जनरल तिनईकर रवांडा के लेफ्टिनेंट जनरल फ्रैंक कामांजी की जगह लेंगे जो 26 मई को अपना कार्यकाल पूरा कर रहे हैं.

संयुक्त राष्ट्र प्रवक्ता के एक बयान में कहा गया है कि नियुक्त किये गए भारतीय सेना अधिकारी का 34 वर्षों में भारतीय सशस्त्र बलों के साथ एक लंबा और विशिष्ट कैरियर रहा है. उन्होंने अपनी सेवा के लिए सेना पदक और विशिष्ट सेवा पदक जीता है. तिनईकर ने 1983 में भारतीय सैन्य अकादमी से स्नातक किया और वर्तमान में जुलाई 2018 से इन्फैंट्री स्कूल के कमांडेंट के रूप में कार्यरत हैं. 


उन्होंने पहले 2017 से 2018 तक सेना मुख्यालय में अतिरिक्त सैन्य महानिदेशक के रूप में कार्य किया और 2012 से 2017 के बीच एक डिवीजन, एक भर्ती प्रशिक्षण केंद्र और एक ब्रिगेड की कमान संभाली. 1996 से 1997 तक, उन्होंने संयुक्त राष्ट्र अंगोला सत्यापन मिशन III, और 2008 से 2009 तक संयुक्त राष्ट्र मिशन में सूडान में सेवा की. उन्होंने मद्रास विश्वविद्यालय से रक्षा और सामरिक अध्ययन में मास्टर ऑफ फिलॉसफी (एम.फिल) भी की है.

संयुक्त राष्ट्र के शांति अभियानों में वर्दीधारी कर्मियों का चौथा सबसे बड़ा योगदानकर्ता भारत, वर्तमान में 6,400 से अधिक सैन्य और पुलिस कर्मियों को संयुक्त राष्ट्र के शांति अभियान अबेई, साइप्रस, डेमोक्रेटिक रिपब्लिक ऑफ कांगो, हैती, लेबनान, मध्य पूर्व, दक्षिण सूडान में योगदान देता है. जुलाई 2011 में पैदा हुए देश दक्षिण सूडान में संयुक्त राष्ट्र मिशन के पास मार्च 2019 तक 19,400 कर्मचारी हैं. 2,337 भारतीय शांति सैनिकों के साथ भारत UNMISS में दूसरा सबसे बड़ा सैन्य दल है, जो केवल 2,750 के साथ रवांडा के बाद दूसरा है.

23 मई को मुस्लिम परिवार में पैदा हुआ बच्चा, नाम रख दिया नरेंद्र मोदी

First published: 25 May 2019, 16:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी