Home » इंटरनेशनल » Indian & Chinese navy rescued a hijacked merchant ship from pirates in Gulf of Aden
 

भारत और चीन की नौसेना ने एकजुट होकर डाकुओं के कब्जे से छुड़ाया जहाज

कैच ब्यूरो | Updated on: 9 April 2017, 17:26 IST

यूं तो पड़ोसी मुल्क चीन के साथ भारत के रिश्ते बहुत बेहतर नहीं कहे जा सकते. लेकिन बावजूद इसके दोनों देशों की नौसेना ने एकजुट होकर एक व्यापारिक जहाज को समुद्री डाकुओं के चंगुल से बचाया.

प्राप्त जानकारी के मुताबिक OS 35 नामक व्यापारिक जहाज को तुवालु के प्रशांत द्वीप में सोमालियाई डाकुओं द्वारा अपने कब्जे में लिया गया था. मलयेशिया के केलांग से यमन पोर्ट सिटी जा रहे जहाज में क्रू सदस्यों समेत 19 लोग सवार थे.

समुद्री डाकुओं द्वारा कब्जे में लिए जाने की जानकारी मिलने के तुरंत बाद भारतीय नौसेना द्वारा आईएनएस मुंबई और आईएनएस तरकश नाम के दो जंगी जहाजों को रवाना कर दिया गया.

 

दूसरी तरफ चीन की नौसेना के पास भी जहाज की ओर से मदद की गुहार पहुंची और इसके बाद वहां से भी जंगी जहाज को रवाना कर दिया गया.

 इसके बाद भारतीय नौसेना ने जहाज को हवाई सुरक्षा देने के लिए हेलीकॉप्टर भेजा. जबकि चीन की नौसेना ने 18 जवानों को भेजा. भारतीय नौसेना के दो जंगी जहाज पहले से ही यहां मौजूद थे.

भारतीय नौसेना के प्रवक्ता कैप्टन डीके शर्मा द्वारा जारी बयान के मुताबिक, "समुद्री डाकुओं के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय समुद्री सहयोग के अंतर्गत वहां पर की गई कार्रवाई में चीनी नौसेना ने उनके कब्जे के जहाज पर अपने जवानों को भेजा और भारतीय नौसेना के हेलीकॉप्टर ने इस पूरे अभियान में हवाई सुरक्षा दी. डाकुओं के कब्जे से छुड़ाए गए जहाज पर मौजूद सभी 19 क्रू मेंबर्स पूर्णतया सुरक्षित हैं."

First published: 9 April 2017, 17:26 IST
 
अगली कहानी