Home » इंटरनेशनल » Indian Doctor K Ramamurthy with 6 Indians rescued from ISIS captivity in Libiya, Thanked PM Modi
 

डेढ़ साल बाद आतंकी संगठन ISIS से छूटकर आया हिंदुस्तानी डॉक्टर, सुनाई खौफनाक दास्तान

कैच ब्यूरो | Updated on: 26 February 2017, 11:29 IST

दुनिया में दहशत का पर्याय बन चुके आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (ISIS) के कब्जे में रहे एक डॉक्टर समेत 6 भारतीयों को छुड़वा लिया गया है. पिछले डेढ़ साल से डॉ. राममूर्ति आईएस आतंकियों के जुल्म सहन कर रहे थे और अब भारतीय सुरक्षा एजेंसियों ने काफी मेहनत के बाद यह कामयाबी हासिल की.

प्राप्त जानकारी के मुताबिक मूलरूप से आंध्र प्रदेश के कृष्णा जिला निवासी डॉक्टर राममूर्ति को करीब 18 महीने पहले ISIS के आतंकियों ने अपहृत कर लिया था. आतंकियों ने उन्हें लीबिया में सलाखों के पीछे कैद कर रखा था. यह आतंकी जबरन उन्हें चिकित्सीय मदद देने के मजबूर करते थे.

ISIS के चंगुल से छूटने के बाद डॉक्टर राममूर्ति ने मीडिया को बताया कि एक दिन आईएस के आतंकी उनके पास आए और उन्हें साथ में चलने के लिए कहा. वहां पर एक अन्य हिंदुस्तानी भी मौजूद था. उन्होंने हम दोनों को लिया और लीबिया में सिर्ते स्थित केंद्रीय जेल ले गए.

 

आईएस लड़ाकों को जब इस बात की जानकारी हुई कि वे एक चिकित्सक है, तो उन्होंने जबरन उनसे घायल साथियों का इलाज करवाया. कहा गया कि अगर इलाज नहीं किया तो जान से मार दिया जाएगा. इस दौरान उन्हें तीन बार गोली भी मारी गई और बहुत बुरा बर्ताव किया गया.

उन्होंने बताया कि आईएस के आतंकियों में 10 साल के बच्चों से लेकर 60 साल तक के बुजुर्ग भी शामिल हैं. उनके युवा लड़ाकों को भारत के बारे में बहुत अच्छी तरह जानकारी है और वे काफी शिक्षित हैं.

डॉ. राममूर्ति ने पीएम मोदी का आभार जताते हुए कहा कि रिहाई और भारत सरकार की कोशिशों के लिए वे प्रधानमंत्री, एनएसए, सुषमा स्वराज और अन्य अधिकारियों को धन्यवाद देना चाहते हैं. इन सभी की कोशिशों से वे घर लौट सके, यह कभी नहीं भूल सकेंगे.

First published: 26 February 2017, 11:29 IST
 
अगली कहानी