Home » इंटरनेशनल » Indians Bhadresh Kumar Patel FBI's list of Top-10 Wanted Criminals
 

अमेरिकी खुफिया एजेंसी FBI को है भारत में इस गुजराती लड़के की तलाश

कैच ब्यूरो | Updated on: 19 October 2019, 11:45 IST

अमेरिकी ख़ुफ़िया एजेंसी FBI पिछले चार वर्षों से एक भारतीय भगोड़े भद्रेश कुमार पटेल को ढूढ़ रही है. अहमदाबाद के विरामगाम के रहने वाले पटेल एफबीआई की शीर्ष 10 सर्वाधिक वांछित भगोड़े लोगों की सूची में शामिल हैं और उस पर 100,000 डॉलर का अवॉर्ड रखा गया है. एफबीआई पटेल को एक हत्यारे और एक खतरनाक' अपराधी के रूप में नामित किया है, जिसने अपनी पत्नी को विचित्र तरीके से मैरीलैंड के हनोवर में डंकिन डोनट्स स्टोर में मार डाला. हालांकि अमेरिका में टॉप 10 मोस्ट वांटेड भगोड़ों की सूची लगातार अपडेट और बदली जाती है, क्योंकि भद्रेश पटेल एक स्थान से दूसरे स्थान पर भागते रहते हैं, इसलिए उनका नाम नवीनतम एफबीआई सूची (2019) में जारी किया गया है.

इस सूचि मेंकई खूंखार भगोड़े शामिल हैं. पटेल का नाम पहली बार 2017 में शीर्ष 10 की सूची में शामिल किया गया था. एक रिपोर्ट के अनुसार काउंटी पुलिस जासूस कैली हार्डिंग ने अपनी जांच में एफबीआई की सहायता करते हुए कहा, "पटेल ने जब अपनी पत्नी को मारा तो यह दृश्य बहुत ही क्रूर था. पलक (21) और पटेल (तब 24) डंकिन डोनट्स स्टोर में नाइट शिफ्ट में काम कर रहे थे. स्टोर की सीसीटीवी फुटेज में भद्रेश और पलक को रैक के पीछे गायब होने से पहले रसोई की ओर एक साथ चलते हुए दिखाया गया है''.


कहा गया है कि ''सीसीटीवी फुटेज के अनुसार कुछ समय बाद पटेल फिर दिखाई दिया. वह फिर रसोई के ओवन से दूर चला जाता है, जैसे कि कुछ भी नहीं हुआ था. उनकी बॉडी लैंग्वेज और फेशियल इम्प्रेशन बहुत सामान्य लगती है''. एफबीआई जांच में खुलासा हुआ है कि पलक के शव को 12 अप्रैल 2015 की रात में पाया गया था, जिसमें कई चाकू के घाव हुए थे. पलक की बेरहमी से पिटाई और चाकू मारकर हत्या करने के बाद, पटेल ने दुकान छोड़ दी और पैदल ही पास के अपार्टमेंट में लौट गया. इसके बाद उसने कुछ निजी वस्तुओं को उठाया और नेवार्क में एक हवाई अड्डे के पास एक होटल में एक टैक्सी किराए पर ली.

टैक्सी चालक ने बाद में बताया कि सवारी के दौरान पटेल सामान्य दिख रहे थे. सीसीटीवी फुटेज से पता चला कि पटेल ने बाद में न्यूर्क के एक होटल में चेक इन किया और एक कमरे के लिए नकद भुगतान करने वाले काउंटर पर देखा गया. वह रात भर सोया और सुबह होटल चला गया. तब से एफबीआई खोजी और उनके जानकारों का विशाल नेटवर्क पटेल के ठिकाने के बारे में सुराग जुटाने की पुरजोर कोशिश कर रहा है.

पटेल की अलग-अलग तस्वीरों वाले पोस्टर अंग्रेजी, हिंदी, गुजराती, मराठी और यहां तक कि फ्रेंच में भी छापे गए हैं और उन्हें दुनिया के विभिन्न हिस्सों में प्रसारित किया गया है जहां पटेल छिप सकते थे. पटेल को भारत में भी खोजा गया है. दिल्ली में एफबीआई एजेंट विभिन्न राज्य पुलिस और कानून लागू करने वाली एजेंसियों के साथ समन्वय कर रहा है ताकि पटेल के परिचित दोस्तों और रिश्तेदारों पर नजर रखी जा सके.

कई मौकों पर भारतीय जांच एजेंसियों ने एफबीआई और अन्य विदेशी पुलिस संगठनों के साथ मिलकर भगोड़ों को पकड़ा है. 2004 में ब्रिटिश प्रवासी हन्ना क्लेयर फोस्टर (17) की सनसनीखेज हत्या में वांछित भारतीय अप्रवासी मनिंदर पाल सिंह कोहली को दार्जिलिंग से ब्रिटिश एजेंसियों द्वारा गिरफ्तार किया गया था.

कौन हैं आध्यात्मिक गुरु कल्कि भगवान, IT ने आश्रमों से जब्त किये 500 करोड़

First published: 19 October 2019, 11:33 IST
 
अगली कहानी