Home » इंटरनेशनल » Indo-US lawmakers joined hand with supporters of protesters against US president Donald Trump
 

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ मार्च को भारतीय-अमेरिकी सांसदों का साथ

कैच ब्यूरो | Updated on: 22 January 2017, 19:01 IST

अमेरिका के 45वें राष्ट्रपति बनने के साथ ही डोनाल्ड ट्रंप का विरोध शुरू हो गया है. अमेरिका ही क्या दुनिया के कई देशों के लोगों ने भी ट्रंप के चुनाव को गलत ठहराया था और इसी के साथ शुरु हुआ प्रदर्शनों का सिलसिला. 

शनिवार को भी अमेरिका समेत ऑस्ट्रेलिया, अफ्रीका, इंग्लैंड जैसे कई देशों में भी हजारों लोग ट्रंप के विरोध में सड़कों पर उतरे. अब डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ जारी प्रदर्शनों में भारतीय मूल के सांसद भी शामिल हो गए हैं. 

वाशिंगटन में हुए महिलाओं के मार्च में सभी पांच भारतीय-अमेरिकी सांसद भी सड़कों पर उतर आए हैं. 45वें राष्ट्रपति के रूप में ट्रंप के शपथ लेने के एक दिन बाद शनिवार को वाशिंगटन डीसी सहित कई शहरों में प्रदर्शन हुए. 

ट्रंप पर हमला करते हुए पहली भारतीय-अमेरिकी सीनेटर कमला हैरिस ने कहा कि हम सभी सच्चाई जानते हैं. यदि आप महिला हैं और एक परिवार बसाने की इच्छा रखती हैं, तो अच्छा वेतन महिलाओं का मुद्दा है. हम जानते हैं कि महिलाओं के मुद्दे को प्राथमिकता देना इस देश का कर्तव्य है. 

कांग्रेस की महिला सदस्या प्रमिला जयपाल ने कहा कि यह मार्च एक आंदोलन के जैसा है. उन्होंने कहा कि मंच से भीड़ के आखिरी हिस्से को देख पाना संभव नहीं है. 

कमला के अलावा कांग्रेस सदस्य अमी बेरा ने भी प्रदर्शनकारियों को संबोधित किया. साथ ही बॉलीवुड अभिनेत्री प्रियंका चोपड़ा ने महिला अधिकार के समर्थन में हुए मार्च का समर्थन किया है. 

शूटिंग में व्यस्त होने की वजह से वह प्रदर्शन में शामिल नहीं हो सकीं. गौरतलब है कि डोनाल्ड ट्रंप के राष्टपति चुने जाने पर अमेरिकी जनता का एक वर्ग संतुष्ट नहीं है. 

ट्रंप पर पहले भी कई महिलाओं के साथ अभद्र व्यवहार के आरोप लग चुके हैं, जिसकी वजह से लगातर उन्हें महिलाओं का विरोध झेलना पड़ रहा है. 

इसके साथ ही ट्रंप पर आरोप लगे कि उनकी जीत के पीछे रूस का भी हाथ है.

First published: 22 January 2017, 19:01 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी