Home » इंटरनेशनल » Indonesia Plane crash: plane waste found in sea, bodies of passengers shattered into water
 

इंडोनेशिया प्लेन क्रैश: समंदर में मिले बिखरे थे यात्रिओं के शव के टुकड़े, 24 बैगों में भर कर लाया गया

कैच ब्यूरो | Updated on: 30 October 2018, 14:53 IST

इंडोनेशियाई अधिकारियों ने लॉयन एयर के दुर्घटनाग्रस्त विमान की मंगलवार को तलाश जारी रखी. यह विमान सोमवार सुबह जावा समुद्र में दुर्घटनाग्रस्त हो गया था. इसमें 189 लोग सवार थे. बचाव टीमों ने मृतकों के शरीरों के हिस्से बरामद किए हैं, जिन्हें 24 बैगों में रखा गया है.

सीएनएन के मुताबिक, पुलिस ने कहा कि इन बैगों को दुर्घटनास्थल से स्थानीय अस्पताल ले जाया गया है, जहां इनका पोस्टमार्टम होगा. विमान हादसे में मारे गए यात्रियों की शिनाख्त के लिए 132 परिवारों से डीएनए के नमूने लिए गए हैं लेकिन पुलिस ने आगाह किया है कि यह मुश्किल हो सकता है और शरीर के हिस्से वाले हर बैग में एक से ज्यादा मृत लोगों के शरीर के हिस्से हैं.

100 से अधिक बचावकर्मी तानजुंग कारावांग के उस क्षेत्र में तलाशी कर रहे हैं, जहां माना जा रहा है कि लॉयन एयर बोइंग 737 मैक्स 8 विमान डूबा है. उड़ान जेटी610 ने सोमवार सुबह 6.20 बजे जकार्ता से इंडोनेशियाई द्वीप बांगका स्थित पंगकल पिनांग के लिए उड़ान भरी थी, जो 13 मिनट बाद रडार से गायब हो गया.

गौरतलब है कि 

दिल्ली के भव्य सुनेजा ने लॉयन एयर बोइंग 737 विमान के पायलट के तौर पर 188 यात्रिओं को लेकर उड़ान भरी थी जिसके 13 मिनट बाद ही प्लेन क्रैश हो गया.

इंडोनेशिया की सर्च और रेस्क्यू एजेंसी ने इस बात की पुष्टि की है कि उड़ान भरने के 13 मिनट बाद ही इसका संपर्क टूट गया था. विमान के भारतीय पायलट सुनेजा ने 2011 में इस एयलाइंस में नौकरी करना शुरू किया था. 

31 साल के सुनेजा दिल्ली के मयूर विहार के निवासी बताए जा रहे हैं. उन्होनें मार्च 2011 में उन्होंने इंडोनेशिया की लॉयन एयर में नौकरी शुरू कर दी जहां वो बोईंग 737 उड़ाते थे. सुनेजा के बारे में भारत में बोईंग 737 का संचालन करने वाली एक एयरलाइन कंपनी के वाइस प्रेसीडेंट ने बताया कि सुनेजा वापस अपने देश भारत लौटना चाहते थे.

First published: 30 October 2018, 14:53 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी