Home » इंटरनेशनल » IPhone manufacturer can launch Apple Car till 2019
 

एप्पल कारः 2019 तक दौड़ सकती है सड़कों पर!

कैच ब्यूरो | Updated on: 9 January 2016, 13:28 IST
QUICK PILL
  • इस बात की अटकलें तेज हैं कि मशहूर अमेरिकी कंपनी एप्पल एक गुप्त ऑटोमोबाइल योजना पर काम कर रही है. अधिकांश लोग इसे इलेक्ट्रिक कार मान कर चल रहे हैं. सिलिकॉन वैली की कंपनियों में कार तकनीक को लेकर इन दिनों होड़ लगी हुई है. जैसे गूगल इंक ने अपनी प्रोटोटाइप सेल्फ ड्राइविंग कार बनाई है.
  • खबर है कि एप्पल ने एक सुरक्षित और गुप्त परीक्षण क्षेत्र बना रखा है. प्रोजेक्ट टाइटन जैसे गुप्त नाम के साथ ही कंपनी टेस्ला, फोर्ड, जनरल मोटर्स, मर्सडीज बेंज, सैमसंग, ए123 सिस्टम्स, एनवीडिया जैसी कंपनियों के टॉप टैलेंट की भी नियुक्ति कर रही है.

कैसा हो जब आपकी कार आपके मोबाइल को संदेश भेज दे कि गाड़ी में ईंधन कम है, टायर पंचर है, इंजन में खराबी है या इसकी सर्विस होने का वक्त आ गया है. अगर आईफोन निर्माता कंपनी एप्पल अपनी कार लॉन्च करती है तो शायद यह सब संभव हो जाए. 

दरअसल दुनिया की प्रमुख तकनीकी कंपनियों में से एक एप्पल ने अब अगला कदम ऑटोमोबाइल क्षेत्र में उठाने का इरादा किया है. इसके लिए कंपनी ने ऑटोमोबाइल से संबंधित डोमेन नेम का पंजीकरण करा लिया है. इससे दुनिया के विशेषज्ञों द्वारा अंदाजा लगाया जा रहा है कि कंपनी जल्द ही अपनी ऑटोमोबाइल की नई रेंज निकाल सकती है. 

एप्पल.कार डोमेन रजिस्टर

Apple-car-domain.jpg

डोमेन इंफार्मेशन प्रोवाइर कंपनी हू.ईज (डब्लूएचओ.आईएस) द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक एप्पल कंपनी ने एप्पल.कार, एप्पल.कार्स और एप्पल.ऑटो नाम से दिसंबर में डोमेन रजिस्टर कराए हैं. 

एप्पल कार प्ले ऐप के लिए कराया रजिस्ट्रेशन

मैकरूमर्स की मानें तो इन डोमेन का रजिस्ट्रेशन कार प्ले ऐप के लिए कराया गया है. कार प्ले एक ऐप है जो आईफोन के ऑपरेटिंग सिस्टम आईओएस को कार से जोड़ देगा.  

इसमें सीरी वॉयस सपोर्ट, प्लग एंड प्ले सेटअप, आईओएस स्टाइल इंटरफेस, एप्पल और थर्ड पार्टी आईओएस ऐप का एक्सेस शामिल है. 

car play apple

इसके जरिये कार के बिल्ट इन डिस्प्ले में पूरा इंफोटेनमेंट मिल सकेगा. यानी ड्राइवर को कॉल करने का सुरक्षित जरिया, मैसेज भेजने की सुविधा, संगीत सुनना और मैप्स एक्सेस करना शामिल है. 

यह ऐप हैंड्स फ्री आधारित है यानी इसको ऑपरेट करने में ड्राइवर का ध्यान भंग नहीं होगा और उसे स्टीयरिंग से हाथ हटाने की जरूरत नहीं पड़ेगी. यह सीरी आधारित है, मतलब सीरी को आदेश देकर अपनी इंफोटेनमेंट की जरूरत पूरी की जा सकेंगी.

2019 तक आ सकती है एप्पल कार

तमाम रिपोर्टों की मानें तो एप्पल एक गुप्त ऑटोमोबाइल योजना पर काम कर रही है. अधिकांश लोग इसे इलेक्ट्रिक व्हीकल बताते हैं. वैसे भी सिलिकॉन वैली की कंपनियों में कार तकनीक को लेकर होड़ मची हुई है. जैसे गूगल इंक ने अपनी प्रोटोटाइप सेल्फ ड्राइविंग कार बनाई है.

इस योजना के लिए सैकड़ों लोगों की टीम काम कर रही है. उम्मीद जताई जा रही है कि कंपनी 2019 या 2020 तक अपनी महात्वाकांक्षी कार लॉन्च कर सकती है. 

बताया जा रहा है कि इसके लिए कंपनी ने एक सुरक्षित और गुप्त परीक्षण क्षेत्र भी बना रखा है. प्रोजेक्ट टाइटन जैसे गुप्त नाम के साथ ही कंपनी टेस्ला, फोर्ड, जनरल मोटर्स, मर्सडीज बेंज, सैमसंग, ए123 सिस्टम्स, एनवीडिया जैसी कंपनियों के टॉप टैलेंट की भी नियुक्ति कर रही है. यहां तक की इलेक्ट्रिक मोटरसाइकिल की स्टार्टअप कंपनी मिशन मोटर्स के अधिकांश कर्मचारियों को एप्पल द्वारा नियुक्त किए जाने के बाद इस स्टार्टअप ने अपना संचालन रोक दिया.

First published: 9 January 2016, 13:28 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी